Tokyo Olympic में भारतीय हॉकी का गोल्ड का सपना टूटा, सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कह दी बड़ी बात

भारत ने इससे पहले साल 1980 के मास्को ओलंपिक खेलों में हॉकी में सोना जीता था.

Tokyo Olympic में भारतीय हॉकी का गोल्ड का सपना टूटा, सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कह दी बड़ी बात

नई दिल्लीः भारतीय हॉकी टीम का ओलंपिक (Tokyo Olympic 2020) में गोल्ड मेडल जीतने का सपना आज टूट गया. सेमीफाइनल में बेल्जियम से मिली 5-2 की करारी हार से ना सिर्फ भारतीय हॉकी टीम बल्कि करोड़ों भारतीयों को भी निराश कर दिया है. भारतीय टीम की हार पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh) चौहान ने भी ट्वीट किया और बड़ी बात कह दी. 

ट्वीट में सीएम शिवराज ने क्या लिखा?
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए लिखा कि "भारतीय टीम बहुत अच्छा खेली. आप भले ही यह मैच हार गए हो लेकिन आपने करोड़ों भारतीयों के दिल जीत लिए हैं. कभी जीत, तो कभी हार होती है लेकिन जीतने का जुनून खत्म नहीं होना चाहिए. मुझे पक्का यकीन है कि भारती पुरुष हॉकी टीम भविष्य में और भी ख्याति अर्जित करेगी. मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं".

40 साल बाद आया था मौका
बता दें कि भारतीय पुरुष हॉकी टीम के पास 40 साल के बाद फिर से ओलंपिक में हॉकी में गोल्ड जीतने का मौका था. हालांकि यह सपना पूरा नहीं हो सका. भारत ने इससे पहले साल 1980 के मास्को ओलंपिक खेलों में हॉकी में सोना जीता था. हालांकि भारतीय टीम के पास अभी भी कांस्य पदक जीतने का मौका है. दरअसल ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल में हारने वाली टीम से भारत का कांस्य पदक के लिए मुकाबला होगा. 

बेल्जियम की टीम ने 2016 के ओलंपिक खेलों में रजत पदक हासिल किया था. अब वह फाइनल में प्रवेश कर चुकी है और अब उनके पास गोल्ड मेडल जीतने का मौका है. भारत के खिलाफ मैच के हीरो रहे बेल्जियम के एलेक्जेंडर हेंडरिक्स, जिन्होंने मैच में 19वें, 49वें, 53वें मिनट में गोल किए. हेंडरिक्स के अलावा बेल्जियम की तरफ से जॉन-जॉन डोमेन ने 60वें मिनट और लोइक लेपर्ट ने दूसरे मिनट में ही गोल कर दिया था. भारत की तरफ से हरमनप्रीत सिंह ने 7वें मिनट और मंदीप सिंह ने 9वें मिनट में गोल किया था.