उज्जैन जहरीली शराब कांड के आरोपी सिपाही की जेल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

पिछले साल उज्जैन में 14 अक्टूबर को जहरीली शराब कांड सामने आया था. झींझर जहरीली शराब पीने से 36 घंटे के अंदर 14 लोगों की मौत हो गई थी.

उज्जैन जहरीली शराब कांड के आरोपी सिपाही की जेल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
सिपाही सुदेश खोड़े

उज्जैनः झींझर जहरीली शराब कांड के बर्खास्त आरोपी सिपाही सुदेश खोड़े की बुधवार रात सेंट्रल जेल भैरवगढ़ में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. उसने जेल अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. इसके बाद पुलिस ने शव को जिला अस्पताल पोस्टमॉर्टम के लिए भेज आरोपी सुदेश के परिवार उसकी मौत की सूचना दी.

MP के किसानों के लिए खुशखबरी, शरबती गेहूं को मिलेगा GI TAG, बासमती चावल का रास्ता भी साफ

10 हजार का इनाम घोषित हुआ था
झींझर जहरीली शराब कांड में नाम आने के बाद सुदेश फरार हो गया था. वह लगभग एक महीने तक फरार रहा. तत्कालीन एसपी ने उस पर 10 हजार का इनाम घोषित किया था. उसे उज्जैन के लक्ष्मीनगर रोड से गिरफ्तार किया गया था. खाराकुंआ थाने में पदस्थ दो सिपाही नवाज शेख और अनवर को भी शराब कांड में संलिप्तता के चलते बर्खास्त किया गया था. फिलहाल ये दोनों भी जेल में बंद हैं.

शराब कांड में हुई थी 14 मौतें
पिछले साल उज्जैन में 14 अक्टूबर को जहरीली शराब कांड सामने आया था. झींझर जहरीली शराब पीने से 36 घंटे के अंदर 14 लोगों की मौत हो गई थी. तक सीएम शिवराव ने मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था. इस शराब कांड में एसआईटी ने 60 दिनों तक जांच के बाद पिछले साल दिसंबर में 1571 पेज की चार्जशीट न्यायालय में पेश की. कुल 18 आरोपी, 175 गवाह बनाए गए. आरोपियों में 3 पुलिसकर्मी नवाज शेख, अनवर और सुदेश शामिल थे.

अगर आपके शरीर पर है इस जगह तिल, तो जानिए क्या है इसका मतलब

छापेमारी में बरामद हुई थी करीब 1000 लीटर स्प्रिट
जहरीली शराब कांड में 15 अक्टूबर को एडीएम के निर्देश पर उज्जैन के गुप्ता मेडिकल और डॉ. मेडिकल सर्जिकल एजेंसी के यहां दबिश दी गई थी. दोनों दुकानों से 700 लीटर बिना बिल की स्प्रिट मिली. साथ ही पुलिस ने दो अन्य मेडिकल स्टोर्स से भी 200 लीटर स्प्रिट जब्त की थी, जो इंदौर से मंगाई गई थी. प्रशासन ने एक्शन लेते हुए चारों दुकानों को सील कर दिया था.

WATCH LIVE TV