नारदा कांड: 15 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजे गए पूर्व IPS एसएमएच मिर्जा

मिर्जा पर नारदा कांड में पैसे लेने का आरोप है. इस वजह सीबीआई ने उन्हें पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था. मिर्ज़ा के दिए गए बयान पर सीबीआई ने शनिवार और रविवार को बीजेपी के नेता मुकुल रॉय को आमने सामने बैठाकर पूछताछ की.

नारदा कांड: 15 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजे गए पूर्व IPS एसएमएच मिर्जा
नारदा कांड में आरोपी हैं पूर्व IPS एसएमएच मिर्जा.

कोलकाता: कोर्ट ने पूर्व आईपीएस अफसर एसएमएच मिर्जा (SMH MIRZA) की जमानत खारिज करते हुए उन्हें 15 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. मिर्जा के वकीलों ने कोर्ट को बताया जिस वजह से उन्हें सीबीआई ने गिरफ्तार किया था और उनकी पूछताछ खत्म हो चुकी है, तो उन्हें रिहा किया जाए. जब जब सीबीआई ने उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया उन्होंने हर बार सीबीआई से बात की, लेकिन कोर्ट ने इस दलील को मानन से इनकार कर दिया और सीबीआई की मांग को मानते हुए मिर्जा को 15 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

मिर्जा पर नारदा कांड (Narada scandal) में पैसे लेने का आरोप है. इस वजह सीबीआई ने उन्हें पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था. मिर्ज़ा के दिए गए बयान पर सीबीआई ने शनिवार और रविवार को बीजेपी के नेता मुकुल रॉय को आमने सामने बैठाकर पूछताछ की. मिर्जा का कहना था की मुकुल रॉय जो 2016 में तृणमूल कांग्रेस के नेता थे उनके कहना पर ये पैसे लिए थे और बाद में सारे पैसे मुकुल रॉय को दे दिया. इस पूरे घटना में मुकुल रॉय का कहना है कि एक साजिश से तौर पर उनको फंसाया जा रहा है और मिर्जा उनके ऊपर गलत इलज़ाम लगा रहे हैं.

साल 2014 में मैथ्यू सैमुअल (Mathew Samuel) ने इस स्टिंग ऑपरेशन को अंजाम दिया था, जिसमें तृणमूल कांग्रेस के कई नेता पैसे लेते हुए दिखे थे. मिर्ज़ा अपनी सफाई में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि पिछले  3 साल से मन के अंदर जो भी राज़ छुपा रखा था, लोग मेरे बारे में गलत सोच सकते हैं लेकिन जो मेरे सहकर्मी रहे हैं वे जानते हैं मैं कैसा इंसान हूं. मिर्जा ने कहा कि पिछले तीन दिनों में मैंने सब सच बोल हूं और बेहद रिलैक्स फील कर रहा हूं. सभी कुछ रिकॉर्ड हुआ है और जांच चल रही है.