Breaking News
  • कोरोना पर पीएम मोदी ने कहा कि दूसरे विश्‍व युद्ध के बाद ये दूसरा सबसे बड़ा संकट

निजामुद्दीन मरकज मामला: मौलाना साद समेत कई के खिलाफ FIR, क्राइम ब्रांच ने शुरू की जांच

 दिल्ली पुलिस ने विवादित दक्षिण पूर्वी जिले में स्थित निजामुद्दीन मरकज प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है.

निजामुद्दीन मरकज मामला: मौलाना साद समेत कई के खिलाफ FIR, क्राइम ब्रांच ने शुरू की जांच
मरकज प्रमुख मौलाना साद

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने विवादित दक्षिण पूर्वी जिले में स्थित निजामुद्दीन मरकज प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है.  एफआईआर दर्ज होते ही दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने मामले की जांच अपराध शाखा के हवाले कर दी. देशभर में तबलीगी जमात के 2137 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है. दिल्ली के बाहर देशभर में तबलीग के 824 विदेशी लोग सक्रिय थे. मरकज से लौटने वाले अब तक 8 लोगों की मौत हो गई है. इनमें 6 मौतें तेलंगाना में, एक दिल्ली में और एक जम्मू-कश्मीर में हुई है.

मंगलवार देर शाम दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने प्रेस वार्ता में कहा कि जल्दी ही मरकज मामले में मामला दर्ज किया जा रहा है. साथ ही मामले की जांच दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच करेगी. हालांकि दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के एक आला अफसर ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, मरकज मामले में मंगलवार को दिन के वक्त ही एफआईआर दर्ज कर ली गई है. जांच भी क्राइम ब्रांच के हवाले कर दी गई है.

दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के एक अधिकारी ने कहा, हमें कई बिंदुओं की जांच करनी है.  पहला बिंदु होगा कि आखिर 18 मार्च को और उसके बाद कब-कब, किस दिन और कितने लोग तब्लीगी जमात मुख्यालय में पहुंचे. साथ ही यह भी पता लगाना है कि क्या निजामुद्दीन थाना पुलिस और स्पेशल ब्रांच अपनी-अपनी जगह पर मरकज मामले में दुरुस्त थे.

स्पेशल ब्रांच जांच के दायरे में इसलिए आ रहा है क्योंकि, मरकज में पहुंचने वालों की रोजाना की रिपोर्ट, विशेषकर विदेशियों की जानकारी इकट्ठी करना दिल्ली पुलिस स्पेशल ब्रांच की ही जिम्मेदारी है. थाना निजामुद्दीन जांच के घेरे में इसलिए फंस रहा है, क्योंकि जिस निजामुद्दीन बस्ती में मरकज स्थित है, वह थाना निजामुद्दीन के सीमा-क्षेत्र में आता है.

ये भी पढ़ें- दिल्ली: मोहल्ला क्लीनिक के एक और डॉक्टर में कोरोना की पुष्टि, इन लोगों को क्वारंटाइन में भेजा गया

दिल्ली पुलिस अपराध शाखा सूत्रों के मुताबिक, अपराध शाखा अब उन सबको भी तलाशेगी जो मरकज में आकर देश के बाकी हिस्सों में पहुंच चुके हैं. साथ ही विदेश वापस लौट चुके लोगों की फेहरिस्त भी क्राइम ब्रांच को तैयार करनी होगी. हालांकि विदेश जा चुके लोगों की कुंडली खंगालना मौजूदा हालातों में क्राइम ब्रांच के लिए बेहद मुश्किल भरा होगा.

लिहाजा ऐसे में क्राइम ब्रांच उन लोगों को पहले तलाशेगी, जो देशी थे या विदेशी. मगर मरकज में पहुंचने के बाद देश के बाकी हिस्सों में जाकर फैल गए और अलग-अलग राज्यों में कोरोना जैसी महामारी फैलाने के कारण बन गए. दिल्ली पुलिस अपराध शाखा की जांच सिर्फ मरकज या फिर दिल्ली तक ही सीमित नहीं रहेगी. तथ्यों की जड़ तक पहुंचने के लिए दिल्ली पुलिस अपराध शाखा की टीमों को उन अन्य राज्यों में भी दौड़ना पड़ेगा, जहां-जहां से रिपोर्ट आ चुकी है कि उन राज्यों में मरकज से गए लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

अपराध शाखा सूत्रों के मुताबिक, मरकज के खिलाफ महामारी एक्ट की तमाम धाराओं के साथ साथ आईपीसी की धारा 120बी के तहत भी मामला दर्ज किया गया है. अपराध शाखा सबसे पहले मरकज प्रमुख और इतनी भीड़ एक जगह पर इतने दुश्वार हालात में जुटाने के जिम्मेदार मो. साद कांधलवी से पूछताछ करेगी. क्योंक,  उन्हें इस बवाल के पीछे की असली तमाम वजहें पता होंगी.

(इनपुट IANS से भी)