close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पूंछ में पाकिस्तान ने दागे मोर्टार, पीएचसी की इमारत को हुआ नुकसान

एक बार फिर पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर अपनी नापक हरकत को अंजाम देते हुए पुंछ जिले के मेंढर सब डवीजन में मेंढर और मनकोट सेक्‍टर में युद्धविराम का उलंघन करते हुए भारतीय सेना की चौकियों के साथ ही रिहाइशी इलाकों को निशाना बना कर मोर्टारों से भारी गोलाबारी की.

पूंछ में पाकिस्तान ने दागे मोर्टार, पीएचसी की इमारत को हुआ नुकसान
पूंछ में पाकिस्तान ने किया सीजफायर का उल्लंघन. फाइल तस्वीर

श्रीनगर: एक बार फिर पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर अपनी नापक हरकत को अंजाम देते हुए पुंछ जिले के मेंढर सब डवीजन में मेंढर और मनकोट सेक्‍टर में युद्धविराम का उलंघन करते हुए भारतीय सेना की चौकियों के साथ ही रिहाइशी इलाकों को निशाना बना कर मोर्टारों से भारी गोलाबारी की. इस दौरान पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा से सटे गांव दबराज में स्थित पीएचसी/प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को भी निशाना बनाया. 

लाइव टीवी देखें-:

गोलाबारी में कई मोर्टार गिरने से पीएचसी की इमारत को काफी नुकसान पहुंचा है. पीएचसी के इंचार्ज फरीद अहमद का कहना है कि पहली बार पाकिस्तान ने पीएचसी को निशाना बनाकर गोले दागे हैं, जिससे इमारत को काफी नुकसान पहुंचा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार दोपहर करीब 11 बजे अचानक पाकिस्तानी सेना ने जिले के मेंढर सब डिविजन के मनकोट और मेंढर सेक्टर में युद्धविराम का उल्लंघन करते हुए गोलाबारी शुरू की. करीब एक घंटे तक चली इस गोलाबारी का भारतीय सेना ने भी मुंह तोड़ जवाब दिया.

पुंछ में 23 दिन बाद मोबाइल सेवा बहाल, लोगों में खुशी
जम्मू कश्मीर से पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाया गया था. उसी दिन पुंछ में मोबाइल कॉलिंग और मोबाइल इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया था. जिले में अब हालात बेहतर होने के बाद प्रशासन ने 23वें दिन रात 11 बजे BSNL की मोबाइल कॉलिंग की सुविधा को बहाल कर दिया है. इससे क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली है. पिछले 23 दिनों से लोगों का एक दूसरे से संपर्क कट गया था. जैसे ही मोबाइल सेवा बहाल हुई, उसी समय लोगों ने एक दूसरे को फोन करने का सिलसिला शुरू कर दिया. अब प्रशासन ने मोबाइल सेवा को बहाल करके लोगों को बहुत बड़ी राहत दी है. लोग एक दूसरे से संपर्क कर रहे हैं और हालचाल जान रहे हैं. वहीं लोगों का कहना है की बाकी के मोबाइल नेटवर्क को भी जल्द खोल देना चाहिए.