पाकिस्‍तान ने की थी यह हरकत, तभी हुई थी अभिनंदन को भारत आने में देरी

भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर पायलट अभिनंदन वर्थमान को शुक्रवार को पाकिस्‍तान ने अटारी-वाघा बॉर्डर पर भारत को देर से सौंपा था.

पाकिस्‍तान ने की थी यह हरकत, तभी हुई थी अभिनंदन को भारत आने में देरी
पाकिस्‍तान ने शुक्रवार को विंग कमांडर अभिनंदन को भारत को सौंपा है. फोटो REUTERS
Play

लाहौर : भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर पायलट अभिनंदन वर्थमान को शुक्रवार को पाकिस्‍तान ने अटारी-वाघा बॉर्डर पर भारत को देर से सौंपा था. दोपहर करीब 4 बजे पाकिस्‍तानी अधिकारी उन्‍हें लेकर वाघा बॉर्डर पहुंच गए थे. इसके बावजूद उन्‍हें रात 9 बजे के बाद भारत को सौंपा गया. ऐसे में अब इस देरी की वजह सामने आ गई है. दरअसल पाकिस्‍तानी अधिकारियों ने अभिनंदन से कैमरे पर बयान दर्ज करने को कहा था. इसके बाद ही उन्हें सीमा पार करके स्वदेश जाने दिया गया. सूत्रों ने यह जानकारी दी.

 

हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हें दबाव में कैमरे के सामने बयान देने को कहा गया या नहीं. इस वीडियो में कई कट हैं जो संकेत देते हैं कि इसे परोक्ष रूप से पाकिस्तानी रुख के अनुरूप करने के लिए इसमें बहुत काट-छांट की गई.

भारतीय वायुसेना का कहना है कि अभिनंदन ने पाकिस्तान का एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया लेकिन उनकी रिहाई से पहले रिकार्ड वीडियो संदेश में इसका कोई उल्लेख नहीं है. पाकिस्तान सरकार ने स्थानीय समयानुसार रात साढ़े आठ बजे पायलट का वीडियो संदेश स्थानीय मीडिया को जारी किया. इस वीडियो में अभिनंदन ने बताया कि उसे कैसे पकड़ा गया.


विंग कमांडर अभिनंदन शुक्रवार को भारत लौटे. फोटो IANS

एक सूत्र ने कहा, ‘‘उनका वीडियो संदेश रिकार्ड करने से उसे भारत को सौंपने में देरी हुई.’’ भारत का पक्ष है कि अभिनंदन का विमान उस समय गिर गया जब भारतीय वायुसेना के विमानों ने 27 फरवरी को जम्मू कश्मीर में भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने के पाकिस्तान वायुसेना के प्रयासों को नाकाम किया था. इससे एक दिन पहले भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में आतंक रोधी अभियान चलाया था.

अभिनंदन विमान से तो बाहर निकल गए थे लेकिन वह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में जाकर गिरे जहां पाकिस्तानी सेना ने उन्हें पकड़ लिया. पाकिस्तानी मीडिया की खबर है कि वाघा आव्रजन पर अभिनंदन के कागजात की जांच हो रही थी इसलिए उन्हें तुरंत भारतीय अधिकारियों को नहीं सौंपा गया.

अटारी बॉर्डर आने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान अमृतसर से दिल्‍ली लाया गया. रात 12 बजे वह विशेष विमान से पालम एयरपोर्ट पहुंचे. यहां से उन्‍हें आरआर अस्‍पताल के लिए रवाना कर दिया गया. चार दिन तक वह अस्‍पताल में ही रहेंगे. इस दौरान डॉक्‍टरों की एक टीम उनकी निगरानी करेगी. 

वाघा बॉर्डर पर पहुंचने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन का पहला रिएक्‍शन था कि घर लौटकर खुश हूं. हालांकि अभी उन्‍हें लंबी मेडिकल जांच प्रक्र‍िया से गुजरना होगा. इस दौरान डॉक्‍टर उन पर निगाह रखेंगे. इसके बाद ही वह घर लौट सकेंगे. इसके बाद ही वायुसेना की ओर से कोई आधिकारिक बयान सामने आएगा. अभी पाकिस्‍तान एक वीडियो चला रहा है. जिसे एडिटेड बताया जा रहा है.
(इनपुट भाषा)