Success Story: मां की मौत से टूट गई थीं Ankita Chaudhary, फिर पिता से मिली प्रेरणा और बन गईं IAS

हरियाणा के रोहतक की रहने वाली अंकिता चौधरी (Ankita Chaudhary) ने एक छोटे कस्बे से निकलकर आईएएस बनने तक का सफर पूरा किया. यूपीएससी एग्जाम में फेल भी हुईं, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और दूसरे प्रयास में 14वीं रैंक हासिल कर देश की तमाम लड़कियों के लिए एक प्रेरणादायी मिसाल कायम की. हाल में एस्पिरेंट (Aspirant) नाम की एक वेबसीरीज आई थी, जिसमें यूपीएससी (UPSC) की तैयारी कर रहे तीन दोस्तों की कहानी दिखाई गई है. इस मौके पर हम आपको कुछ ऐसे ही लोगों की स्टोरी बता रहे हैं, जिन्होंने कई मुश्किलों का सामना कर यूपीएससी पास किया.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Aug 05, 2021, 07:22 AM IST
1/6

रोहतक की रहने वाली हैं अंकिता

Ankita is a resident of Rohtak

हरियाणा के रोहतक जिले के एक कस्बे की रहने वाली अंकिता चौधरी (Ankita Chaudhary) की शुरुआती पढ़ाई रोहतक के इंडस पब्लिक स्कूल से हुई. 12वीं के बाद अंकिता ने दिल्ली के हिंदू कॉलेज में एडमिशन लिया और केमेस्ट्री में ग्रेजुएशन किया. ग्रेजुएशन के दौरान ही उन्होंने यूपीएससी एग्जाम देने का मन बना लिया था और फिर पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन लेने के बाद यूपीएससी की तैयारी में जुट गईं. (फोटो सोर्स- अंकिता चौधरी ट्विटर)

2/6

दिल्ली से किया ग्रेजुएशन

Graduated from Delhi

अंकिता चौधरी (Ankita Chaudhary) ने जब तक पोस्ट ग्रेजुएशन कंप्लीट नहीं हो गई तब तक यूपीएससी सिविल सेवा की परीक्षा नहीं दी. मास्टर डिग्री कंप्लीट होने के बाद वह पूरी तरह यूपीएससी की तैयारी में लग गईं. (फोटो सोर्स- अंकिता चौधरी ट्विटर)

3/6

मां की मौत के बाद टूट गईं

broke after mother death

यूपीएससी की तैयारी के दौरान ही अंकिता चौधरी (Ankita Chaudhary) की मां की मौत एक रोड एक्सीडेंट में हो गई. मां की मौत का सदमा अंकिता को काफी लगा था और वह टूट गई थीं. (फोटो सोर्स- अंकिता चौधरी ट्विटर)

4/6

पिता की प्रेरणा से बनी आईएएस

inspiration from father

अंकिता चौधरी (Ankita Chaudhary) को उनके पिता ने संभाला और हौसला दिया. अंकिता के पिता सत्यवान रोहतक की चीनी मिल में अकाउंटेंट के पद पर तैनात हैं और पिता से मिली प्रेरणा ने ही अंकिता को आईएएस बनने में काफी मदद की. इसके बाद वह पूरी लगन और मेहनत के साथ यूपीएससी की तैयारी में जुट गईं. (फोटो सोर्स- अंकिता चौधरी ट्विटर)

5/6

पहले प्रयास में हो गईं फेल

Failed in first attempt

अंकिता चौधरी (Ankita Chaudhary) ने जब साल 2017 में पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी तो वे फेल हो गईं. इसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और अपनी कमियों का एनालिसिस कर दूसरे प्रयास के लिए सुधारकर बेहतर तरीके से तैयारी की. (फोटो सोर्स- अंकिता चौधरी ट्विटर)

 

6/6

दूसरे प्रयास में मिली सफलता

Success in second attempt

अंकिता चौधरी (Ankita Chaudhary) ने साल 2018 में दूसरी बार यूपीएससी की परीक्षा दी. दूसरी बार उनकी रणनीति इतनी प्रभावी थी कि उन्होंने ऑल इंडिया में 14वीं रैंक हासिल की और आईएएस अफसर बन गईं. (फोटो सोर्स- अंकिता चौधरी ट्विटर)