Zee Rozgar Samachar

Lucknow में हो रही Inter-Faith Marriage पुलिस ने रुकवाई, जानिए इसके पीछे का कारण

यूपी में लव जेहाद (Love Jihad) रोकने के लिए बने सख्त कानून के बाद यूपी पुलिस अब कोई रिस्क लेने के लिए तैयार नहीं दिखती है. उसकी यह 'अति सतर्कता' कुछ लोगों को भारी भी पड़ रही है.

Lucknow में हो रही Inter-Faith Marriage पुलिस ने रुकवाई, जानिए इसके पीछे का कारण
फाइल फोटो

लखनऊ: यूपी में लव जेहाद (Love Jihad) रोकने के लिए बने सख्त कानून के बाद यूपी पुलिस अब कोई रिस्क लेने के लिए तैयार नहीं दिखती है. उसकी यह 'अति सतर्कता' कुछ लोगों को भारी भी पड़ रही है. लखनऊ (Lucknow) में आपसी सहमति से शादी कर रहे हिंदू-मुस्लिम जोड़े (inter-religion marriage) की शादी पुलिस ने अनुमति न होने की बात कहते हुए रुकवा दी. 

बिना अनुमति लिए शादी कर रहा था जोड़ा 
जानकारी के मुताबिक लखनऊ (Lucknow) के पारा इलाके में बुधवार शाम बिना अनुमति लिए एक हिंदू लड़की और मुस्लिम लड़का आपस में शादी (inter-religion marriage) कर रहे थे. मौके पर दोनों के परिजन भी मौजूद थे. इसकी भनक लगने पर राष्ट्रीय युवा वाहिनी के प्रदेश संयोजक अल्पसंख्यक मोर्चा के मोहम्मद यासिर और अखिल भारतीय हिन्दू महासभा उत्तर प्रदेश के जिलाध्यक्ष बृजेश कुमार शुक्ल ने पुलिस में शिकायत कर दी. मामले की जानकारी मिलते ही लखनऊ पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई और शादी रुकवा दी.

ये भी पढ़ें- Love Jihad: यूपी में नए अध्यादेश पर अमल शुरू, Bareilly में दर्ज हुआ पहला मुकदमा

शादी में खाना खाकर लौट गए लोग
कार्यक्रम में मौजूद दोनों के परिजनों ने आपसी सहमति से शादी होने की बात कही लेकिन पुलिस ने उनकी एक बात नहीं सुनी. पुलिस ने कहा कि 'विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश' (Prohibition of Unlawful Religion Conversion Act) के तहत अब उन्हें अंतर-विवाह (inter-religion marriage) शादी करने के लिए जिलाधिकारी से पूर्व अनुमति हासिल करनी होगी. उसके बाद ही उनकी शादी वैध हो सकती है. पुलिस के समझाने के बाद दोनों के परिवार वाले मान गए और डीएम की अनुमति के बाद ही शादी करने की बात कही. वहीं शादी में आए लोग भी खाना खाकर वापस लौट गए. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.