Breaking News
  • दिल्‍ली हिंसा पर कांग्रेस ने राष्‍ट्रपति को ज्ञापन सौंपा
  • सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह समेत कई नेता राष्‍ट्रपति से मिले
  • अखिलेश यादव सीतापुर के लिए निकले. जेल में बंद सपा नेता आजम खां व उनके परिवार से करेंगे मुलाकात

पंजाब: पुलवामा हमले में शहीद हुआ था सिपाही, प्रशासन ने बरसी पर पूरी की परिवार की मांग

कुलविंदर सिंह पुलवामा हमले में शहीद हो गया था और वह नूरपुर बेदी के गांव रौली का रहने वाला थाच. आज उसकी बरसी उनके गांव में मनाई गई.

पंजाब: पुलवामा हमले में शहीद हुआ था सिपाही, प्रशासन ने बरसी पर पूरी की परिवार की मांग
पुलवामा हमले में शहीद हुआ था सिपाही. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पंजाब: पुलवामा शहीद कुलविंदर सिंह की आज बरसी के मौके पर जिला प्रशासन द्वारा एक और मांग पूरी करते गांव के सरकारी प्राइमरी स्कूल का नाम शहीद के नाम पर रखा गया. साथ ही स्कूल को स्मार्ट विद्यालय का दर्जा भी दिया गया.

बता दें कि अभी तक सरकार की और से शहीद के परिवार के साथ किए वायदों में से यह दूसरी मांग पूरी हुई है. वहीं, डिप्टी कमिश्नर रूपनगर ने कहा कि एक और वायदा जो कि श्री आनंदपुर साहिब से नूरपुर बेदी जाने वाले रास्ते का काम भी जल्द शुरू हो जाएगा. इसमें दो करोड़ का खर्च आएगा.

दरअसल, कुलविंदर सिंह पुलवामा हमले में शहीद हो गया था और वह नूरपुर बेदी के गांव रौली का रहने वाला थाच. आज उसकी बरसी उनके गांव में मनाई गई. इस मौके पर जिला प्रशासन की ओर से डिप्टी कमिश्नर रूपनगर सोनाली गिरी पहुंचे और उन्होंने सरकार की ओर से शहीद के परिवार के साथ किए हुए वायदे के अनुसार गांव के प्राइमरी स्कूल का नाम शहीद पर नाम पर रखने का ऐलान किया.

वहीं, परिवार की दो अन्य मांगे जिनमें गांव के स्वागती गेट बनवाने और श्री आनंदपुर साहिब से नूरपुर बेदी आने वाली सड़क का नाम शहीद के नाम पर रखने को लेकर डिप्टी कमिश्नर रूपनगर सोनाली गिरी ने कहा कि श्री आनंदपुर साहिब से नूरपुर बेदी आने वाली सड़क की लागत 2 करोड़ 5 लाख है और उसका भी काम जल्द शुरू कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि जो भी ग्रामीणों और परिवार की मांगे हैं उन्हें सरकार पहल के आधार पर पूरा करेगी.

इधर, शहीद के पिता का कहना है कि हमारे साथ जो पंजाब सरकार ने वायदे किए थे वह 1 साल बीत जाने के बाद अब पूरे होने शुरू हुए हैं. आज गांव के स्कूल का नाम शहीद कुलविंदर के नाम पर रखा गया है और स्कूल को स्मार्ट स्कूल बनाया गया है. वही गांव में पार्क बनाने और श्री आनंदपुर साहिब से नूरपुर बेदी आने वाली सड़क को चौड़ा करने और शहीद के नाम पर रखने को भी कहा गया है.