Zee Rozgar Samachar

Rahul Gandhi के करीबी KC Venugopal और Randeep Surjewala Congress की बैठक में नहीं हुए शामिल

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) दोबारा कांग्रेस (Congress) के अध्यक्ष बनेंगे या नहीं, इस पर संशय बरकरार है. कांग्रेस (Congress) पार्टी के 23 नेताओं ने इस साल अगस्त में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को पत्र लिखकर पार्टी नेतृत्व में सुधार की मांग की थी, जिसके बाद ये आपात बैठक बुलाई गई थी.

Rahul Gandhi के करीबी KC Venugopal और Randeep Surjewala Congress की बैठक में नहीं हुए शामिल
बाईं तरफ राहुल गांधी और दाईं तरफ के. सी वेणुगोपाल और रणदीप सुरजेवाला (फाइल फोटो) | फोटो साभार: रॉयटर्स

नई दिल्ली: कांग्रेस (Congress) की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के घर पर शनिवार को हुई आपात बैठक में पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के करीबी सहयोगी के. सी. वेणुगोपाल और रणदीप सुरजेवाला शामिल नहीं हुए. इससे सियासी बाजार गर्म है. लोग इसके अलग-अलग मायने निकाल रहे हैं.

बता दें कि कांग्रेस (Congress) पार्टी के 23 नेताओं ने इस साल अगस्त में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को पत्र लिखकर पार्टी नेतृत्व में सुधार की मांग की थी, जिसके बाद ये बैठक हुई थी.

सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक, के. सी. वेणुगोपाल (KC Venugopal) अपनी मां के निधन के बाद कुछ धार्मिक रस्मों को करने के लिए अपने पैतृक घर पर गए हुए हैं. लेकिन सवाल यह उठता है कि क्या राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने के. सी. वेणुगोपाल को जानबूझकर बैठक से दूर रखा. वेणुगोपाल का कांग्रेस (Congress) पार्टी में पद बढ़ाए जाने से असंतुष्टि और असहमति बढ़ी है.

ये भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने दो महीने में खरीदा 14,600 करोड़ का कपास, 9 लाख किसानों को हुआ फायदा

वहीं दूसरी तरफ विपक्षी पार्टियों के सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के करीबी सहयोगी के. सी. वेणुगोपाल (KC Venugopal) और रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) की अनुपस्थिति को एक संदेश के रूप में देखा जा रहा है कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) वरिष्ठ नेताओं के साथ काम करना चाहते हैं, इसलिए पंचमढ़ी की तर्ज पर विचार मंथन का सुझाव दिया जा रहा है.

हालांकि कांग्रेस (Congress) पार्टी का नया अध्यक्ष कौन होगा और नेतृत्व में किन-किन नेताओं को शामिल किया जाएगा, इस पर अंतिम विचार करने से पहले सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) अधिकांश नेताओं से मिलेंगी.

ये भी पढ़ें- Sonia Gandhi की चिट्ठी से बढ़ सकता है महाराष्ट्र सरकार में टकराव, जानिए NCP ने क्या कहा?

कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता पवन बंसल ने कहा, 'राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ किसी को कोई समस्या नहीं है और ये सिर्फ आज के लिए नहीं है. हर किसी का मानना है कि हमें राहुल गांधी के नेतृत्व की जरूरत है. हमें अन्य लोगों के जाल में नहीं फंसना चाहिए जो पार्टी के एजेंडे से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं.'

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.