close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

केंद्र सरकार की 'सौभाग्य योजना' से रौशन होंगे डूंगरपुर के 47 हजार घर

श के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण क्षेत्रो में 100 प्रतिशत घरों में बिजली पहुंचाने का सपना देखा है. उसी सपने के तहत डूंगरपुर जिला आगे बढ़ रहा है

केंद्र सरकार की 'सौभाग्य योजना' से रौशन होंगे डूंगरपुर के 47 हजार घर
सौभाग्य योजना के तहत विभाग जिले में 47 हजार घरों को भी जल्द रौशन करेगा

अखिलेश शर्मा/डूंगरपुर: आजादी के बाद आज तक अंधियारे में जीवनयापन करने वाले आदिवासी अंचल डूंगरपुर जिले के हजारों गरीब परिवारों के घर अब जल्द ही रौशन होंगे. पंडित दीनदयाल ग्राम विद्युतीकरण योजना में शेष रहे घरों को रौशन करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से शुरू की गई सौभाग्य योजना के तहत डूंगरपुर विद्युत विभाग मार्च 2019 तक जिले में 47 हजार से अधिक घरों तक बिजली पहुंचाएगा. विभाग द्वारा टेंडर करने के बाद योजना पर काम शुरू भी हो गया है.

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण क्षेत्रो में 100 प्रतिशत घरों में बिजली पहुंचाने का सपना देखा है. उसी सपने के तहत डूंगरपुर जिला आगे बढ़ रहा है. प्रदेश के आदिवासी बहुल डूंगरपुर जिले में  दीन दयाल उपाध्याय विद्युतीकरण योजना में दो चरणो में 91 हजार 301 परिवारों के घर तक लक्ष्य था. उसमे से विभाग ने 85 हजार 833 घरो तक बिजली के कनेक्शन करते हुए घरों को रौशन कर दिया है. वहीं 5468 कनेक्शन बाकी चल रहे है.  

वहीं अब पीएम प्रधानमंत्री की 100 प्रतिशत घरों तक बिजली पहुंचाने की मंशा की तहत सौभाग्य योजना में विद्युत विभाग जिले में शेष 47 हजार घरों को भी जल्द रौशन करेगा इसको लेकर विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी है. पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम विद्युतीकरण योजना के सहायक अभियंता विजय कुमार ने बताया की सौभाग्य योजना में जिले के 5 ब्लोको में बीपीएल व एपीएल परिवार मिलाकर 47 हजार 250 घरों में बिजली दी जाएगी. इधर आजादी के बाद से अंधेरे में जीवन यापन करने वाले लोगों में बिजली के कनेक्शन आने से काफी ख़ुशी है. 

इधर पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम विद्युतीकरण योजना के सहायक अभियंता विजय कुमार ने बताया की सौभाग्य योजना में बीपीएल परिवारों को तो कनेक्शन निशुल्क दिए जायेंगे वही एपीएल परिवारों से कनेक्शन फ़ाइल के रूप में सिर्फ 500 रुपए की राशि ली जायेगी. विजय कुमार ने बताया की योजना के तहत काम शुरू हो चूका है और मार्च 2019 तक कार्य को पूरा करने के विभाग ने लक्ष्य लिया है. उम्मीद है की मार्च माह तक जिले में 100 प्रतिशत घर बिजली से रौशन हो जाएंगे.

सरकार की संवेदनशीलता के कारण आदिवासी अंचल के हजारों परिवार रौशनी का अहसास कर काफी खुश हैं. अब ये परिवार भी देश-दुनिया के करोड़ों अरबों परिवारों की भांति रात में भी पढ़ सकते हैं, लिख सकते हैं और रोशनी के सहारे सुकून भरी अपनी जिंदगी को जी सकते है. वहीं जिले में शेष रहे घरों को रौशन करने के लिए सौभाग्य योजना के तहत जिले में काम शुरू हो चूका है. वहीं सब कुछ ठीक ठाक रहा तो मार्च माह के अंतिम तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशानुसार डूंगरपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रो के सभी घर 100 प्रतिशत बिजली से रौशन हो जाएंगे.