close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अलवर सामूहिक दुष्कर्म मामले पुलिस ने दाखिल किया 400 पन्नों का आरोप-पत्र

मामले में 35 प्रत्यक्षदर्शियों के बयान दर्ज किए गए और आरोपियों की आवाज के नमूनों को भी एकत्रित किया गया है.

अलवर सामूहिक दुष्कर्म मामले पुलिस ने दाखिल किया 400 पन्नों का आरोप-पत्र
मामले की सुनवाई 30 मई को की जाएगी.

जयपुर: राजस्थान पुलिस ने शनिवार को अनुसूचित जाति और जनजाति अदालत के समक्ष अलवर सामूहिक दुष्कर्म मामले में 400-पन्नों का आरोप-पत्र दाखिल किया. आरोप-पत्र में छह लोगों को आरोपी बनाया गया है.

पुलिस सूत्रों ने कहा कि मामले की सुनवाई 30 मई को की जाएगी. आरोपियों के विरुद्ध अपहरण, सामूहिक दुष्कर्म, डकैती समेत अन्य मामलों में विभिन्न धाराओं के तहत मामले दर्ज किए गए.

एक अन्य मामला घटना का वीडियो बनाने वाले आरोपी के विरुद्ध भी दर्ज किया गया. यह वीडियो वायरल हो गया था.

मामले में 35 प्रत्यक्षदर्शियों के बयान दर्ज किए गए और आरोपियों की आवाज के नमूनों को भी एकत्रित किया गया, जिसकी फोरेंसिक साइंस लैबोरेटरी(एफएसएल) से रिपोर्ट जल्द ही आने वाली है.

वीडियो अपलोड करने वाले एक यूट्यूबर प्रयोगकर्ता के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया. वेबसाइट से वीडियो हटाने के लिए फेसबुक और यूट्यूब को भी एक पत्र लिखा गया. पुलिस अधिकारियों ने कहा कि उन लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी, जिन्होंने पीड़िता की पहचान को उजागर किया था.

यह घटना 26 अप्रैल की है. पांच आरोपी एक दलित दंपति को सुनसान जगह पर ले गए और व्यक्ति की पिटाई की और उसकी पत्नी के साथ दुष्कर्म किया, साथ ही इसका वीडियो भी बना लिया. उन्होंने पीड़ितों के पैसे भी छीन लिए.