close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अलवर में पानी की टंकी गिरने से हंगामा, सहायक अभियंता को किया निलंबित

वहीं भिवाड़ी मामले की रिपोर्ट राज्य सरकार ने मुख्य अभियंता प्रशासन से 10 दिन में मांगी है. इसके अलावा भिवाड़ी के सहायक अभियंता को सरकार ने निलंबित कर दिया है. 

अलवर में पानी की टंकी गिरने से हंगामा, सहायक अभियंता को किया निलंबित
भिवाड़ी में मंगलवार को टेस्टिंग के दौरान पानी की टंकी ढह गई थी.

जयपुर: अलवर के भिवाड़ी में पानी की टंकी गिरने के बाद में जलदाय विभाग की आंखे खुली हैं. अब मुख्य अभियंता आईडी खान ने सभी निमार्णाधीन टंकियों की जांच के आदेश दिए गए हैं. प्रदेश की सभी अधीशासी अभियंता को निर्देश दिए हैं कि दो महीने के भीतर राज्य सरकार को रिपोर्ट सौंपे. 

वहीं भिवाड़ी मामले की रिपोर्ट राज्य सरकार ने मुख्य अभियंता प्रशासन से 10 दिन में मांगी है. इसके अलावा भिवाड़ी के सहायक अभियंता को सरकार ने निलंबित कर दिया है. जबकि टंकी के निर्माण कार्य में घटिया सामग्री का इस्तेमाल करने वाली फर्म को ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा. जलदाय विभाग ने ज्वाइंट वेन्चर पार्टनर्स मैसर्स और मैसर्स एस.एम.एस द्धारा बनाए गए सभी कार्यों की जांच करने के भी निर्देश दिए है.

भिवाड़ी में मंगलवार को टेस्टिंग के दौरान पानी की टंकी ढह गई थी. हादसे में 4 लोग घायल हुए थे. टंकी में भरा पानी और मलबा गिरने से नजदीक स्थित कोर्ट, स्कूल और अस्पताल की बिल्डिंग क्षतिग्रस्त हो गई थी. सेक्टर-1 पर पानी की टंकी को कुछ दिनों पहले ही निर्माण करवाया गया था. लीकेज की जांच के लिए टंकी में पानी भरा गया था. लेकिन, गुणवत्तापूर्ण निर्माण न होने की वजह से पानी की टंकी ढह गई.

इस पूरे हादसे के बाद सवाल ये खड़े हो रहे हैं कि टंकी बनाने में आखिर इतनी बड़ी लापरवाही क्यों की गई. वो तो गनीमत ये रही है कि टंकी से पानी सप्लाई शुरू होते वक्त हादसा नहीं हुआ, नहीं तो भारी नुकसान हो सकता था. अब कंपनी के काम पर पूरी तरह से सवाल खड़े हो गए हैं. ऐसे में अब कंपनी को जांच के बाद ब्लैक लिस्टेड करवाकर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.