बाड़मेर: अधिकारियों ने किसानों के नाम पर किया फर्जीवाड़ा, सरकार को लगाया लाखों का चूना

जानकारी मिली कि बाड़मेर के अधिकारियों ने सैकड़ों नाबालिगों के नाम पर लाखों रुपए उठा लिए, कई तो ऐसे भी नाम उजागर हुए जिनकी मौत हो चुकी है. 

बाड़मेर: अधिकारियों ने किसानों के नाम पर किया फर्जीवाड़ा, सरकार को लगाया लाखों का चूना

बाड़मेर: राजस्थान में किसानों को लोन देने के नाम पर फर्जीवाड़े के मामले घटने का नाम नहीं ले रहे हैं. जोधपुर के बाड़मेर से ऐसा ही एक ओर मामला सामने आया है. बाड़मेर जिले की ग्राम सेवा सहकारी समितियों में किसानों को लोन देने के नाम पर फर्जीवाड़ा किया जा रहा है. इसका खुलासा उस वक्त हुआ जब कर्जमाफी के लिए लिस्ट चस्पा की गई और ऋणमाफी के लिए नामों को ऑनलाइन जारी किया गया. 

इस दौरान जानकारी मिली कि बाड़मेर के अधिकारियों ने सैकड़ों नाबालिगों के नाम पर लाखों रुपए उठा लिए, कई तो ऐसे भी नाम उजागर हुए जिनकी मौत हो चुकी है. यह घोटाला अशोक गहलोत सरकार या वसुंधरा राजे सरकार में हुआ है अब तक इसका खुलासा नहीं हो पाया है. वहीं इस मामले को पीड़ितों ने कांग्रेस विधायक अमीन खान और मंत्री हरीश चौधरी के सामने उठाया है. इन दोनों ही नेताओं का कहना है कि ये अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है. इस पूरे घोटाले की जांच होनी चाहिए और उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी जिला कलेक्टर को दे दी है.

गौरतलब है कि बाड़मेर में करीब 300 से ज्यादा सहकारी समितियां हैं. इस घटना के बाद इन सभी पर सवालिया निशान लग गए हैं. वहीं प्रदेश स्तर पर अगर जांच की जाए तो ये प्रदेश में सबसे बड़ा घोटाला साबित हो सकता है और अब बड़ा सवाल ये है कि क्या गहलोत सरकार इस मामले की जांच करवाएगी.