बीकानेर: गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी ने दुकानदार को बेचा नकली सोना, जमकर हुआ हंगामा

इस मामले में स्वर्णकार रजत सोनी ने जानकारी देते हुए बताया कि उसके पास देर शाम आईआईएफएल गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी का फोन आया.

बीकानेर: गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी ने दुकानदार को बेचा नकली सोना, जमकर हुआ हंगामा
दुकानदान ने जब यह सोना नकली पाया तो उसके होश उड़ गए.

अनूपगढ़: अगर आप किसी गोल्ड लोन फाइनेंस संस्था से सोना खरीदना चाहते हैं तो सावधान हो जाइए, आप ठगी का शिकार हो सकते हैं. ऐसा ही एक मामला श्रीगंगानगर जिले के अनूपगढ़ शहर में घटित हुआ. अनूपगढ़ में पुरानी ट्रक यूनियन के सामने आई आई एफ एल गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी के द्वारा एक स्वर्णकार को नकली सोना बेचा गया. 

इस मामले में स्वर्णकार रजत सोनी ने जानकारी देते हुए बताया कि उसके पास देर शाम आईआईएफएल गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी का फोन आया. उन्होंने कहा कि वे कंपनी में रखा सोना बेचना चाहते हैं. रजत सोनी आईआईएफएल गोल्ड लोन फाइनेंस की ब्रांच में गया और कर्मचारियों ने रजत सोनी को 242 ग्राम नकली सोना 610500 रुपए की कीमत में भेज दिया. 

रजत सोनी ने इस एवज में आई आई एफ एल को लगभग 75000 रुपए नगद और 290 ग्राम सोना दे दिया. रजत सोनी यह सोना लेकर अपनी दुकान पर आया तो उसने सोने को चेक किया तो सोना नकली मिला. रजत सोनी ने जब यह सोना नकली पाया तो उसके होश उड़ गए.  रजत सोनी उसी समय नकली सोने को लेकर आई आई एफ एल की ब्रांच में गया और नकली सोना होने की शिकायत की. 

इस पर ब्रांच में कार्यरत कर्मचारियों ने रजत सोनी के साथ बुरा व्यवहार किया और सोना वापस लेने से मना कर दिया. इस बात पर रजत सोनी तथा अन्य स्वर्णकारो ने आई आई एफ एल की ब्रांच में जमकर हंगामा किया. इसकी सूचना आई आई एफ एल के उच्च अधिकारियों और पुलिस को दी. आई आई एफ एल के उच्च अधिकारी अनूपगढ़ ब्रांच में पहुंचे. 

हालांकि, काफी देर तक रजत सोनी और अन्य स्वर्णकार दुकानदारों को झांसा देते रहे. मगर विवाद बढ़ता देख आई आई एफ एल के उच्च अधिकारियों ने रजत सोनी से गलती स्वीकार करते हुए उसका सोना लौटा दिया. शेष राशि 2 दिन के भीतर उसे देने का वायदा किया. समय रहते पर रजत सोनी की सजगता से रजत सोनी ठगी से बच गया.