लूणकरणसर में सड़क हादसा, एक ही घर से लगातार दूसरे दिन निकली अर्थी, माहौल हुआ गमगीन
topStories1rajasthan1465072

लूणकरणसर में सड़क हादसा, एक ही घर से लगातार दूसरे दिन निकली अर्थी, माहौल हुआ गमगीन

28 नवंबर की शाम को लूणकरणसर सहजरासर मार्ग पर पलटी पिकअप में घायल बच्ची ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया है. विदित रहे कि 28 नवंबर की शाम को लुनकरणसर से सहजरासर जाते समय एक पिकअप गाड़ी पलट गई थी.

लूणकरणसर में सड़क हादसा, एक ही घर से लगातार दूसरे दिन निकली अर्थी, माहौल हुआ गमगीन

Lunkaransar News: 28 नवंबर की शाम को लूणकरणसर सहजरासर मार्ग पर पलटी पिकअप में घायल बच्ची ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया है. विदित रहे कि 28 नवंबर की शाम को लुनकरणसर से सहजरासर जाते समय एक पिकअप गाड़ी पलट गई थी. जिसमें 1 छात्र की मौत हो गई और उसकी बहन गंभीर रूप से घायल हो गई.

 मिली जानकारी के अनुसार सहजरासर निवासी छात्र लालचंद पुत्र महावीर प्रजापत अपनी छोटी बहन रोशनी के साथ आधार अपडेट जैसे काम के लिए लूणकरणसर आया था. वापस गांव लौटते वक्त पिकअप पलटी और लालचंद की मौके पर ही मौत हो गई तथा रोशनी गंभीर रूप से घायल हो गई। 16 वर्षीय रोशनी को चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद पीबीएम के ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया, जहां उपचार के के दौरान आज उसकी भी मौत हो गई है.

एक ही घर से लगातार दूसरे दिन भी निकली शव यात्रा

सहजरासर के महावीर प्रजापत के घर से 29 नवंबर को बेटे और आज 30 नवंबर को बेटी की शवयात्रा निकली है. लगातार दो दिनों से एक ही घर से निकली शव यात्रा से गांव में माहौल गमगीन हो गया. 29 नवंबर को लालचंद का अंतिम संस्कार हुआ तो आज फिर उसी आंगन से रोशनी को की भी शव यात्रा निकली.

ये भी पढ़ें- अजमेर: दुकान में घुसकर साइकिल व्यापारी को पीटने की घटना के बाद बढ़ा विवाद, दुकानदारों ने बाजार किया बंद

 

मृतक भाई-बहिन के पिता भी सड़क हादसे में खो चुके है हाथ

सरपंच प्रतिनिधि राजूराम ने बताया कि पुत्र पुत्री की मौत से महावीर प्रजापत पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है. महावीर प्रजापत खुद विकलांग है और बहुत गरीब परिवार से आते हैं. कुछ समय पहले हुए सड़क हादसे में महावीर प्रसाद ने अपना एक हाथ खो दिया था और अब बेटा-बेटी भी सड़क हादसे का शिकार हो गए हैं.

Reporter- Tribhhuvan Ranga

Trending news