close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: कांग्रेस कर रही थी राफेल पर BJP को घेरने का प्रयास, कार्यकर्ताओं ने फाड़े पोस्टर

सभा स्थल के साथ ही जयपुर शहर में कई जगह राफेल डील का मुद्दा उठाते हुए पोस्टर, होर्डिंग्स और बैनर कांग्रेस की तरफ से लगाये गए थे.

राजस्थान: कांग्रेस कर रही थी राफेल पर BJP को घेरने का प्रयास, कार्यकर्ताओं ने फाड़े पोस्टर
राहुल की सभा के दौरान लगाए गए पोस्टरों को फाड़ते भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ता.

शशी मोहन, जयपुर: राजधानी जयपुर में 9 जनवरी को आयोजित कांग्रेस की किसान आभार रैली के दौरान राफेल के मुद्दे पर लगाए गए पोस्टर बीजेपी कार्यकर्ताओं को नागवार गुजरा. सभा स्थल और जयपुर शहर के में पीएम मोदी और बीजेपी को घेरते हुए लगाए गए इन पोस्टरों को भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने फाड़ दिया. कांग्रेस ने राहुल गांधी की सभा के पहले राफेल के अलावा पीएम नरेंद्र मोदी और अंबानी की फोटो वाली पोस्टर को लगा कर बीजेपी को घेरने का प्रयास किया था.  

आपको बता दें कि, राजस्थान में चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की जनसभा का आयोजन राजधानी जयपुर में किया गया था. इस रैली का केंद्र बिंदु कांग्रेस के लिए एक बार फिर से राफेल डील का मुद्दा उठाना ही था. इसी कारण रहा कि सभा स्थल के साथ ही जयपुर शहर में कई जगह राफेल डील का मुद्दा उठाते हुए पोस्टर, होर्डिंग्स और बैनर कांग्रेस की तरफ से लगाये गए. कांग्रेस के इस पोस्टरवार से नाराज बीजेपी बीजेपी कार्यकर्ताओं ने शहर के कई हिस्सों में लगे होर्डिंग्स-पोस्टर को फाड़ दिया. 

2018 के विधानसभा चुनाव में जीत से उत्साहित कांग्रेस ने जयपुर में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी किसान रैली के माध्यम से प्रदेश की जनता का आभार जताने के लिए राजस्थान के दौरे पर पहुंचे थे. इस दौरान लोकसभा चुनाव के पहले बीजेपी को घेरने के लिए राफेल डील के मुद्दे पर कांग्रेस ने पूरे शहर में पोस्टर लगवाया था. सभा स्थल और आस-पास के इलाके में 10 से ज्यादा होर्डिंग राफेल डील के मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरते हुए लगाए गए थे. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उद्योगपति अनिल अंबानी को साथ दिखाते हुए कांग्रेस ने जयपुर शहर में कई जगह होर्डिंग्स लगवाए थे. 

पोस्टर को लेकर जयपुर शहर में रही चर्चा 
शहर के एयरपोर्ट से विद्याधर नगर स्टेडियम सभा स्थल के बीच सबसे व्यस्त रूट जवाहरलाल नेहरू मार्ग पर इस तरह के होर्डिंग्स और बैनर लगाए गए पोस्टर सभा में आने वाले लोगों के बीच तो चर्चा का विषय यह भी रहा कि कथित घोटाले में कांग्रेस ने जो आरोप लगाए उसमें आंकड़ा कितने करोड़ तक पहुंच रहा है? इस जिज्ञासा में लोग होर्डिंग्स पर लिखी गई रकम के जीरो भी गिनते दिखाई दिए.

बीजेपी को नागवार गुजरा पोस्टरवार

लेकिन दूसरी तरफ एक तबका ऐसा भी था जिसे कांग्रेस का यह पोस्टर वार बिल्कुल पसंद नहीं आया. इसमें सबसे ज्यादा संख्या बीजेपी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की थी. बीजेपी के कुछ नेताओं ने कांग्रेस के इस काम को निंदनीय बताया. जबकी भारतीय जनता युवा मोर्चा के कुछ अति उत्साहित कार्यकर्ता एक कदम आगे बढ़ गए.  भाजयुमो के पूर्व उपाध्यक्ष अजय सिंह ने तो कलेक्ट्रेट पर कांग्रेस की तरफ से लगाये गए इस तरह के पोस्टर्स ही फाड़ दिए. साथ ही कांग्रेस नेताओं को चेतावनी भी दे डाली. 

राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट की क्लीन चिट के बाद बीजेपी हुई हमलावर

दरअसल राफेल डील को लेकर बीजेपी अब ज्यादा हमलावर होने की कोशिश कर रही है. संसद में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के जवाब के बाद बीजेपी के कार्यकर्ताओं के पास इस मामले में नए तर्क आए हैं, तो साथ ही सुप्रीम कोर्ट की क्लीन चिट के बाद बीजेपी कार्यकर्ता अपने नेताओं को डिफेंड करने में ज्यादा मजबूती दिखा रहे हैं. बीजेपी के कार्यकर्ताओं द्वारा पोस्टर फाड़ने पर कांग्रेस फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं दे रही है. लेकिन कांग्रेसी हलकों में इस बात की चर्चा जरूर है कि अगर इस तरह के पोस्टर लगाना गलत है, तो क्या पूर्व प्रधानमंत्री की छवि खराब करने वाली फिल्म को बर्दाश्त किया जाना सही होगा?