close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जहाजपुर नगर पालिका के अध्यक्ष पर पार्षदों ने लगाया विकास कार्यों की अनदेखी का आरोप

जहाजपुर विधायक गोपीचंद मीणा के नेतृत्व में कुल 16 बागी पार्षद कलक्टर से मिलने पहुंचे. उधर,अविश्वास प्रस्ताव पेश करने के साथ ही भाजपा और कांग्रेस के बागी पार्षदों को बाड़ेबंदी शुरू हो गई.

जहाजपुर नगर पालिका के अध्यक्ष पर पार्षदों ने लगाया विकास कार्यों की अनदेखी का आरोप
फिलहाल जिला प्रशासन इस मामले का वैधानिक परीक्षण करवा रहा है.

भीलवाड़ा:अजमेर के जहाजपुर नगर पालिका के कांग्रेस बोर्ड में अध्यक्ष विवेक मीणा के खिलाफ आखिरकार बुधवार को दूसरी बार भाजपा और कांग्रेस के बागी पार्षदों के साथ  निर्दलीय पार्षदों ने जिला अधिकारी राजेन्द्र भट्ट के समक्ष अविश्वास प्रस्ताव पेश कर दिया. पार्षदों ने अध्यक्ष पर विकास कार्यों की अनदेखी का आरोप लगाया.
 
जहाजपुर विधायक गोपीचंद मीणा के नेतृत्व में कुल 16 बागी पार्षद कलक्टर से मिलने पहुंचे. उधर,अविश्वास प्रस्ताव पेश करने के साथ ही भाजपा और कांग्रेस के बागी पार्षदों को बाड़ेबंदी शुरू हो गई. जब तक कलक्टर की ओर से चुनाव की तारीख तय नहीं होती तब तक 16 पार्षदों को बाड़ेबंदी में ही रखा जाएगा. फिलहाल जिला प्रशासन इस मामले का वैधानिक परीक्षण करवा रहा है. 

वहीं, अविश्वास प्रस्ताव पेश करने के दौरान कोटड़ी मंडल अध्यक्ष योगेंद्र सिंह छापड़ेल भी मौजूद थे. कलेक्टर के समक्ष भाजपा के 8 व कांग्रेस के 5 और 3 निर्दलीय पार्षदो सहित कुल 16 पार्षद थे. भाजपा के पार्षदों में नेता प्रतिपक्ष नरेश सिंह मीणा, कांता मीणा, जैनिया हसन, जमीला बानो, राकेश पत्रिया, राजीव काटिया, रतनलाल खाती, श्याम लाल चौधरी, अरविंद भूवालिया व मोहर बाई मीणा. उधर, कांग्रेस के बागी पालिका उपाध्यक्ष अब्दुल लतीफ, पार्षद शब्बीर मोहम्मद, समता रेगर, रामस्वरूप रैगर व शिवराज रेगर मौजूद थे. 

पालिका चुनाव में भाजपा व कांग्रेस के आठ-आठ और चार निर्दलीय पार्षद जीते थे. मौजूदा अध्यक्ष विवेक मीणा भी बतौर निर्दलीय पार्षद ही जीते थे. अध्यक्ष के चुनाव के समय विवेक कांग्रेस में शामिल हो गए. अध्यक्ष के चुनाव में दोनों तरफ से क्रॉस वोटिंग हुई इसलिए भाजपा व कांग्रेस के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी को 9-9 वोट मिले. 

वोट बराबर होने से लॉटरी प्रक्रिया में कांग्रेस के विवेक अध्यक्ष चुने गए. 21 अगस्त, 2015 को शपथ ग्रहण के बाद 27 दिसंबर, 2016 को राज्य सरकार ने उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया. इसके बाद भाजपा के नरेश मीणा अध्यक्ष बने और वे 4 जनवरी, 2017 से 18 अगस्त, 2017 तक अध्यक्ष रहे. हाईकोर्ट से राहत मिलने के बाद विवेक ने 19 अगस्त, 2017 को दूसरी बार कार्यभार संभाला.