अजमेर: ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के जरिए शातिर ने उड़ाए 1 लाख, जांच में जुटी पुलिस

मामला पुष्कर के चुंगी नाके से जुड़ा है. यहां लगभग 3 साल से त्रिपुरा निवासी शामल शाह नामक युवक, अपने परिवार सहित एक झोपड़ी में अपना गुजर बसर कर रहा है. 

अजमेर: ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के जरिए शातिर ने उड़ाए 1 लाख, जांच में जुटी पुलिस
ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के जरिए 1 लाख रुपए शातिर ठग द्वारा निकाल लिए.

मानवीर सिंह/अजमेर: कोरोना वायरस (Coronavirus) के इन मुश्किल हालातों में जहां समाज के गरीब तबके का जिंदगी बसर करना मुमकिन नहीं हो पा रहा है. वहीं, इन्हीं गरीबो द्वारा संकट काल के लिए बड़ी मेहनत से बचाई गई पूंजी शातिर ऑनलाइन (Online) ठग इनके खातों से मिंटो में उड़ा ले जा रहे हैं.

दरअसल, मामला पुष्कर के चुंगी नाके से जुड़ा है. यहां लगभग 3 साल से त्रिपुरा निवासी शामल शाह नामक युवक, अपने परिवार सहित एक झोपड़ी में अपना गुजर बसर कर रहा है. पीड़ित युवक ने कहा कि, कुछ दिनों पूर्व किसी अनजान नंबर से उसके पास फोन आया, जिसमे उसने मोबाइल पर आई ओटीपी (OTP) के बारे में जानकारी कथित बैंककर्मी को दी.

कुछ दिनों बाद शामल शाह जब बैंक में अपनी जमा राशि निकलवाने गया तो उसके होश उड़ गए. शाह के खाते से ट्रांजेक्शन के जरिए 1 लाख रुपए शातिर ठग द्वारा निकाल लिए गए. जिसकी शिकायत शाह ने पुष्कर पुलिस को की. वहीं, सूचना मिलने पर सीआई राजेश मीणा ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरू कर दी.

गौरतलब है कि, शामल शाह रूप सजा के जरिए विभिन्न धार्मिक पात्रों का अभिनय कर अपनी रोजी-रोटी की व्यवस्था करता है. शाह ने 3 साल की कड़ी मेहनत से अपने बैंक के खाते में 1 लाख रुपए की बचत की थी. वहीं, कोरोना महामारी के इस कठिन काल में मेहनत से कमाई जमापूंजी के यू चोरी हो जाने से, शाह के परिवार पर संकट का पहाड़ टूट पड़ा है. वहीं, पुलिस ने की मामले की जांच चल रही है और साइबर अपराधी को पकड़ने की कोशिश जारी है.