राजस्थान की सड़कों पर उतरे गुर्जर आंदोलनकारी, मचाया उपद्रव

सोमवार 12 बजे तक अल्टीमेटम की समय सीमा समाप्त होने के बाद राज्य के कई जिलों में गुर्जर आंदोलनकारी सड़कों पर उतर गए है. 

राजस्थान की सड़कों पर उतरे गुर्जर आंदोलनकारी, मचाया उपद्रव
सड़क पर आंदोलन करता गुर्जर समाज. (फोटो साभार: DNA)

हिमांशु मित्तल, जयपुर: गहलोत सरकार को सोमवार 12 बजे तक आरक्षण की मांग को लेकर दिए अल्टीमेटम की समय सीमा समाप्त होने के बाद राज्य के कई जिलों में गुर्जर आंदोलनकारी सड़कों पर उतर गए. सवाई माधोपुर के कुशालीधरा पर गुर्जरों ने सड़क को जाम कर आवागमन ठप कर दिया. वहीं, टोंक शिवपुरी स्टेट हाईवे को पूरी तरह किया जाम कर दिया. बताया जा रहा है कि सड़क पर पेड़ काटकर आवागमन पूरी तरह अवरुद्ध कर दिया. 

इसके अलावा नागौर जिले के बाड़ी घाटी में गुर्जर आंदोलनकारियों ने भारी जाम लगा दिया है. इस दौरान सड़क पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बंद हो चुकी है. मौके पर भारी संख्या में पुलिस जाब्ता और ज़िला प्रशासन के आलाधिकारी मौजूद है.

वहीं, नीमकाथाना सीकर से मिल रही खबर के अनुसार रायपुर मोड़ पर दिल्ली कुचामन हाईवे पर भी सड़क जाम किया जा चुका है. बताया जा रहा है कि इस दौरान सड़क के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है. 

जबकि टोंक में आंदोलनकारियों ने जयपुर-टोंक-कोटा हाइवे 12 पर आवागमन बाधित कर दिया है. बनास पुल के पास जमा प्रदर्शनकारियों ने  जाम लगा कर रखा है. इस दौरान यहां पर मौजूद पुलिस अधिकारी जाम स्थल से करीब 500 मीटर की दूरी पर आंदोलनकारियों की गतिविधियों पर पैंनी निगाह बनाए हुए हैं. बताया जा रहा है कि जिलेभर से सैकड़ों की तादाद में गुर्जर समाज के लोगों का यहां मौजूद हैं. 

वहीं, कोटपूतली में चल रहे धरने के दौरान वहां मौजूद लोगों को कर्नल बैंसला की तरफ से फोन आने की बात कही जा रही है. बताया जा रहा है कि कर्नल बैंसला ने दिल्ली जयपुर हाइवे जाम करने के दिये उन्हें दिशा निर्देश दिए हैं. इस दौरान गुर्जर समाज के लोगों ने स्थानीय पुलिस को गुर्जरों की भीड़ से 200 मीटर तक दूर रहने का अल्टीमेट दिया है. पुलिस अधिकारी मौके पर भारी जाप्ता के साथ तैनात हैं. 

इसके अलावा राज्य़ के सिकन्दरा में भी गुर्जरों ने दोपहर से जाम लगाकर रखा है. वहीं, दौसा से मिल रही खबर के अनुसार मानपुर चौराहे से यातायात को डायवर्ट कर दिया गया है. इस दौरान गुर्जर शहीद स्थल पर काफी संख्या में गुर्जर समाज के लोग मौजूद थे. वहीं नैनवां में भी 
महापड़ाव पर देवनारायण के भजनों पर नाच रहे है गुर्जर समाज के युवा और युवतियां नाच गान कर रहे हैं. इस दौरान महापड़ाव स्थल पर सद्बुध्दि यज्ञ की तैयारियां भी चल रही है. इस यज्ञ में गहलोत सरकार को सद्बुद्धि देने के लिए आहूतिय़ां दी जा रही है.. 

राज्य में चल रहे गुर्जर आंदोलन के कारण रोडवेज बसों के पहिए थम गए हैं. इस दौरान यूपी, आगरा, हिंडौन और करौली की बसों का आवागमन रद्द कर दिया गया है. सूत्रों के अनुसार, करीब 12 बसों को सिंधीकैम्प पर ही रोका गया है. इसके अलावा इस आंदोलन के कारण आगरा रोड पर सवारिया भी काफी कम हो गई है. बताया जा रहा है कि राजस्थान रोडवेज की कुछ बसें सिर्फ दौसा तक ही पहुंच पा रही है.