जयपुर: 14 साल बाद देश लौटेगा ईरानी नागरिक, अवैध घुसपैठ के आरोप में जेल में था बंद

ईरानी नागरिक अली को 2005 में पाक से सटी बॉर्डर पर सुरंग पार करते हुए पकड़ा गया था. 

जयपुर: 14 साल बाद देश लौटेगा ईरानी नागरिक, अवैध घुसपैठ के आरोप में जेल में था बंद
19 मई को ईरानी नागरिक अपने देश रवाना हो सकेगा. (प्रतीकात्मक फोटो)

विष्णु शर्मा, जयपुर: राजस्थान की जेल में बंद ईरानी नागरिक बेहरोज अली की 14 साल बाद वतन वापसी होगी. अली को 2005 में पाक से सटी बॉर्डर पर सुरंग पार करते हुए पकड़ा गया था. भारत में तीन साल की सजा पूरी करने के बाद करीब 11 साल से बेहरोज वतन वापसी का इंतजार कर रहा था. अब 19 मई को वह अपने वतन रवाना हो सकेगा. 
 
मिली जानकारी के अनुसार, भारत-पाक बॉर्डर पर 4 मार्च 2005 को तारबंदी के नीचे सुरंग बनाकर अवैध घुसपैठ कर रहे ईरानी नागरिक बेहरोज अली को सुरक्षाकर्मियों ने पकड़ लिया. सुरक्षाकर्मियों ने पूछताछ के बाद बेहरोज को बाड़मेर की बाकासर थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया. पुलिस ने 8 मार्च 2005 को विदेशी नागरिक अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया. जिसके बाद बेहरोज के खिलाफ कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई. कोर्ट ने 9 नवंबर 2005 को बेहरोज को तीन वर्ष सश्रम कारवास की सजा सुनाई. 

सजा पूरी होने के बाद से था इंतजार
इधर सजा पूरी करने के बाद 8 नवंबर 2008 को बेहरोज को जोधपुर कोर्ट ने रिहा कर दिया. इसके बाद पुलिस ने 5 नवम्बर 2008 से 4 नवंबर 2009 के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत गिरफ्तार रखा. वहीं सीआरपीसी की धारा 109 के तहत उसकी गिरफ्तारी चलती रही. इधर जोधपुर जेल से 19 जून 2013 को बेहरोज अली को अलवर के डिटेंशन सेंटर भेज दिया गया. तब से लेकर बेहरोज डिटेंशन सेंटर में ही बंद है. 

ईरानी दूतावास की पहल पर बंधी उम्मीद
भारत सरकार से बेहरोज की नागरिकता सत्यापित करने के लिए ईरानी दूतावास से सम्पर्क किया गया. दूतावास ने बेहरोज को ईरानी नागरिक बताते हुए उसकी रिहाई के लिए कदम उठाया. गृह विभाग से 11 दिसम्बर 2018 को गृहमंत्रालय को पत्र लिखकर प्रत्यावर्तन की जानकारी मांगी. इधर 1 जनवरी 2019 को ईरानी दूतावास ने बेहरोज के प्रत्यावर्तन की पूरी जानकारी मांगी. 29 जनवरी को विदेश मंत्रालय को प्रत्यवर्तन की जानकारी दी.

 

दिल्ली से भरेगा उड़ान
इस बीच ईरानी दूतावास ने 19 मई का बेहरोज की यात्रा टिकट भेज दिया है. वहीं, गृह मंत्रालय ने 3 मई को विदेश मंत्रालय से बेहरोज के राष्ट्रीयता व यात्रा दस्तावेज का सत्यापन मांगा है. दस्तावेज आते ही 19 मई को बेहरोज को नई दिल्ली हवाई अड्डे से ईरान रवाना कर दिया जाएगा.