अहम खुलासा: पाक जासूस नवाब ISI हैंडलर को भेज रहा था सेना के मूवमेंट की जानकारी

तीन दिन पूर्व जयपुर में विशेष थाना पुलिस द्वारा ओस एक्ट में गिरफतार किये गए नवाब खान को न्यायालय ने तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है.

अहम खुलासा: पाक जासूस नवाब ISI हैंडलर को भेज रहा था सेना के मूवमेंट की जानकारी
ISI एजेंट को वेस्ट्रन यूनियन के माध्यम से पैसे भी मिले थे. (फाइल फोटो)

मनीष रामदेव, जैसलमेर: पाकिस्तानी खुफिया एजेन्सी आईएसआई को देश की सामरिक गोपनीय सूचनाएं व देते हुए पकड़ा गया एजेंट जैसलमेर पहुंच गया है. स्थानीय सम थाना के गांगा की बस्ती निवासी नवाब खान को एरिया वेरिफिकेशन के लिए जयपुर से जैसलमेर गुरुवार को लाया गया है. 

सूत्रों के अनुसार, सीआईडी पुलिस के डिप्टी एसपी हरी चरण मीणा के नेतृत्व में जैसलमेर पहुंची है. इस टीम ने उसे जैसलमेर के कई स्थानो पर ले जाकर वेरिफिकेशन करवाया, जहां की जानकारी उसने सीमा पार भेजी थी. आपको बता दें कि, तीन दिन पूर्व जयपुर की विशेष थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया था. जिसके बाद नवाब खान को न्यायालय ने तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. 

आईएसआई के हैंडलर को भेज रहा था सूचना

इस संबंध में डीएसपी हरी चरण मीना ने बताया कि पाक जासूस नवाब खान जैसलमर के सम के रेतीले धोरो पर आने वाले सैलानियों के अलावा सेना, बीएसएफ व अन्य सुरक्षा पर्सनल को यहां के टीलो पर घुमाने के दौरान उनसे जानकारी जुटा कर सीमा पार पाक खुफिया एजेंसी आई.एस.आई को भेज रहा था. इसके अलावा उसने जैसलमेर रेलवे स्टेशन, सेना, बीएसएफ की मूवमेंट अन्य सामरिक कन्स्ट्रक्शन आदि कई महत्वपूर्ण जानकारी सीमा पार अपने आईएसआई के हैंडलर को सोशल मीडिया व वीडियो कॉल के जरिये भेजी थी.  

गुप्तचरी के एवज में काफी पैसा देने का मिला था लालच

उन्होंने यह भी बताया कि पाक जासूस नवाब खान शुक्रवार को जैसलमेर के मुख्य डाकघर भी ले जाया गया. जहां पर उसने अपना आधारकार्ड देकर पाकिस्तानी खुफिया एजेन्सी आईएसआई द्वारा पाकिस्तान से वेस्टर्न मनी ट्रांसफर द्वारा भेजे गए 5000 रुपये प्राप्त किये थे. उसे जैसलमेर शहर, दामोदरा, सम, उसके गांव  आदि अन्य विभिन्न स्थलो पर लेजाकर वेरिफिकेशन करवाया जा रहा हैं. बताया जा रहा है कि नवाब को आईएसआई ने गुप्तचरी के एवज में काफी पैसा देने का लालच दिया था.