जयपुर: RCA कार्यकारिणी गठन के बाद भी अब तक नहीं हुआ शपथ ग्रहण, जानिए क्यों...

दो महीने बीत जाने के बाद भी आरसीए की नई कार्यकारिणी ने शपथ नहीं ली है.

जयपुर: RCA कार्यकारिणी गठन के बाद भी अब तक नहीं हुआ शपथ ग्रहण, जानिए क्यों...

जयपुर: राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन की नई कार्यकारिणी बने करीब दो महीने का समय बीत चुका है. लेकिन अभी तक कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण समारोह नहीं हो पाया है. ऐसा इसलिए क्योंकि नई कार्यकारिणी शपथ ग्रहण समारोह को भव्य और यादगार बनाने की कवायद में जुटा है. जिसकी तैयारी में आरसीए की पूरी कार्यकारिणी जुटी हुई है.

गौरतलब है कि 4 अक्टूबर को आरसीए के चुनाव हुए थे. वहीं, अध्यक्ष पद पर वैभव गहलोत के साथ ही सभी पदों पर सीपी जोशी गुट के पदाधिकारियों की जीत हुई. लेकिन दो महीने बीत जाने के बाद भी आरसीए की नई कार्यकारिणी ने शपथ नहीं ली है. जिसके पीछे वजह रही आरसीए एकेडमी की बिल्डिंग में नया ऑफिस खोलने का फैसला था. हालांकि, अब इस ऑफिस का काम लगभग पूरा होने की करार पर है.

वहीं दूसरी ओर नई कार्यकारिणी की ओर से इस बार शपथ ग्रहण समारोह को भव्य बनाने की पूरी तैयारी कर ली गई है. जिसके लिए बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली सहित बीसीसीआई के तमाम पदाधिकारियों को भी शपथ ग्रहण समारोह में आने का निमंत्रण दिया जा चुका है. साथ ही, समारोह में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित मंत्री मंडल के तमाम मंत्रियों को बुलाने की योजना है.

हालांकि अभी तक शपथ ग्रहण समारोह की कोई तिथि निर्धारित नहीं हुई है. लेकिन संभवतः 12 या 13 दिसम्बर को नई कार्यकारिणी की ओर से शपथ लिए जाने की संभावना है. आरसीए सचिव महेन्द्र शर्मा ने बताया कि 'नई कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण समारोह दिसम्बर के दूसरे सप्ताह में करवाने की पूरी कोशिश है. साथ ही, शपथ ग्रहण को लेकर बीसीसीआई अध्यक्ष और पदाधिकारियों को भी निमंत्रण दिया जा चुका है और अब तिथि निर्धारित होने के बाद औपचारिक निमंत्रण दिया जाएगा. 

बता दें कि, आरसीए के सभी पदों पर सीपी जोशी गुट के पदाधिकारियों ने जीत हासिल की थी,,और जीत हासिल करने के कुछ दिनों बाद ही आरसीए पर लगा निलंबन भी खत्म हुआ था. ऐसे में पहली बार इतने बड़े स्तर पर शपथ ग्रहण समारोह को करने का फैसला लिया गया है. आरसीए सचिव महेन्द्र शर्मा ने बताया कि 'आरसीए के निलंबन खत्म हो चुका है और जल्द ही राजस्थान में अंतर्राष्ट्रीय मैदान और अंतर्राष्ट्रीय मैचों की मेजबानी भी मिलेगी. इसलिए इस आयोजन को भव्य बनाने का फैसला लिया गया है'.