Jaipur News: राजस्थान सचिवालय की सुरक्षा पर उठे सवाल, जानिए ऐसा क्या हुआ चोरी?

शहर में आए दिन बाइक चोरों की संख्या बढ़ रही है. वाहन चोर अब सरकारी दफ्तरों (Government offices) की पार्किंग तक भी पहुंचने लग गए हैं. 

Jaipur News: राजस्थान सचिवालय की सुरक्षा पर उठे सवाल, जानिए ऐसा क्या हुआ चोरी?
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Jaipur: शहर में तो आए दिन वाहन चोरी (Vehicle Theft) की घटनाएं सामने आती रहती हैं, लेकिन अब सरकारी भवनों की पार्किंग भी चोरों के निशाने पर आने लगी है. क्या सरकारी कार्यालयों की पार्किंग (Parking) तक चोर दिनभर ताक झांक करते रहते हैं या मौके की तलाश में रहते हैं. 

यह भी पढ़ें- Rajasthan Secretariat में कार्यरत बाहरी कर्मचारियों को मूल विभाग में भेजने के निर्देश

शहर में आए दिन बाइक चोरों की संख्या बढ़ रही है. वाहन चोर अब सरकारी दफ्तरों (Government offices) की पार्किंग तक भी पहुंचने लग गए हैं. सचिवालय की बात की जाए तो पिछले दिनों में 4 मोटर साइकिलें चोरी हो गई हैं. सचिवालय से वाहन चोरी की एक के बाद एक हो रही घटनाओं से कर्मचारियों में रोष है. कर्मचारी नेता उपेंद्र सिंह (Upendra Singh) ने कहा कि सचिवालय जैसी जगह में ही वाहन सुरक्षित नहीं है तो वाहन कहां खड़े किए जाएं. 

यह भी पढ़ें- राजस्थान में 44 IAS अधिकारियों को मिलेगा प्रमोशन, पढ़ें लेवलवाइज डिटेल

 

सचिवालय पार्किंग की स्थिति
- 4 मंजिला पार्किंग की जगह मौजूद
- 2 बेसमेंट, 1 ग्राउंड फ्लोर और 1 छत पर पार्किंग सुविधा
- चार पहिया, दो पहिया, साईकिल पार्किंग की जगह
- 1000 के करीब वाहन पार्क हो सकते

क्या हुई चोरी
- 4 बाइक हुई चोरी
- 10-10 दिन के अंतराल में दो बाइकें हुई चोरी

सचिवालय सुरक्षा पर सवाल ?
- पार्किंग के लिए ठेका दिया जाता
- बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी होते तैनात
- सचिवालय के हर गेट पर पुलिसकर्मी और निज़ी सुरक्षाकर्मी रहते तैनात
- पार्किंग में कैमरे लगे हुए 
- रातभर सुरक्षाकर्मी, कैमरे चालू रहते 
- ऐसे में वाहन चोरी की घटना होनो अधिकारी- कर्मचारियों की कार्यशैली पर सवालिया निशान

पार्किंग ठेके की स्थिति
- फरवरी में पार्किंग ठेका खत्म हुआ
- नए टेंडर के लिए आवेदन लिए गए
- आवेदन नहीं आने से दोबारा आवेदन लिए गए
- अभी तक टेंडर ओपन नहीं हुआ
- पार्किंग में कमाई नहीं होने से ठेकेदार नहीं दिखाते रूचि
- सचिवालय कर्मचारियों के अलावा, मंत्री स्टाफ, अधिकारियों के परिचित, कर्मचारियों के परिचित पार्किंग शुल्क देने में करते आनाकानी

सचिवालय के सुरक्षा अधिकारी और रजिस्ट्रार ने कहा कि अभी पार्किंग ठेका नहीं हुआ है. पार्किंग ठेका देने के दौरान बाइक चोरी होती है तो जिम्मेदारी ठेकेदार की रहती है. अभी बाइक चोरी की घटनाओं को लेकर पुलिस को जानकारी दी है.