NEET में नकल से परीक्षार्थियों में डर, REET 2021 में बायोमेट्रिक हाजिरी लेने की मांग

26 सितम्बर को 31 हजार पदों पर रीट (REET 2021) अध्यापक पात्रता परीक्षा का आयोजन माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से करवाया जा रहा है. 

NEET में नकल से परीक्षार्थियों में डर, REET 2021 में बायोमेट्रिक हाजिरी लेने की मांग
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Jaipur: कोरोना (Corona) के बाद राजस्थान की सबसे बड़ी परीक्षा का आयोजन 26 सितम्बर को होने जा रहा है. 26 सितम्बर को 31 हजार पदों पर रीट (REET 2021) अध्यापक पात्रता परीक्षा का आयोजन माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से करवाया जा रहा है, जिसमें करीब 16 लाख से ज्यादा परीक्षार्थियों के शामिल होने की उम्मीद की जा रही है. इसको लेकर शिक्षा विभाग, पुलिस प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद नजर आ रहा है लेकिन पिछले दिनों नीट (NEET 2021) और एसआई (SI) भर्ती परीक्षा में सामने आए नकल और भ्रष्टाचार के मामलों के चलते प्रदेश के लाखों बेरोजगारों में मन में कई सवाल खड़े हो रहे हैं, जिनका जवाब किसी के पास नहीं है. 

नीट परीक्षा में बड़े स्तर पर नकल गिरोह के पकड़ने जाने, एसआई भर्ती परीक्षा में पेपर सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल होने और परीक्षा केन्द्र के अंदर से वीडियो वायरल होने के बाद रीट परीक्षा में शामिल होने जा रहे लाखों परीक्षार्थियों के मन में एक डर समा गया है. इसके बाद परीक्षा आयोजन को लेकर शिक्षा विभाग के सामने बड़ी चुनौतियां खड़ी हो गई है.

यह भी पढ़ेंः Reet Exam 2021 Admit Card: एडमिट कार्ड जल्द होने वाला जारी, इस आसान तरीके से करें Download

परीक्षा आयोजन को लेकर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) का कहना है कि परीक्षा को पारदर्शी करवाने के लिए विभाग, पुलिस प्रशासन और एसओजी पूरी तरह से मुस्तैद है. परीक्षा में नकल रोकने के लिए टीमों का गठन कर दिया गया है. इसके साथ ही परीक्षा पारदर्शिता के साथ हो इसको लेकर भी कड़े कदम उठाए जा रहे हैं. 26 सितम्बर को रीट परीक्षा पूरी सुरक्षा और पारदर्शी तरीके से आयोजित करवाई जाएगी. 

वहीं दूसरी ओर परीक्षा में नकल प्रकरण और भ्रष्टाचार को रोकने के लिए बेरोजगार संगठनों ने भी कई प्रकार की मांग शिक्षा विभाग और सरकार के सामने रखी है. राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव (Upen Yadav) का कहना है कि हाल ही में आयोजित एसआई भर्ती में करीब 8 लाख से ज्यादा परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया और इस भर्ती में कई नकल के मामले सामने आए. 

रीट (REET Exam 2021) परीक्षा में जिसमें करीब 16 लाख से ज्यादा बेरोजगार हिस्सा लेने जा रहे हैं. ऐसे में परीक्षा केन्द्रों पर धारा 144 लागू की जाए, इंटरनेट बंद किया जाए, परीक्षा से दो दिन पहले कोचिंग्स को बंद किया जाए. साथ ही संदिग्ध लोगों के फोन भी ट्रेस किए जाएं, परीक्षा में बायोमेट्रिक हाजिरी ली जाए. सरकार को नकल के मामले रोकने होंगे तो ये कदम उठाने ही होंगे. 

यह भी पढ़ेंः REET 2021 Admit Card Update: एडमिट कार्ड आज हो सकता है जारी, ऐसे करेंगे Download

पिछले दो सालों से परीक्षा की तैयारी कर रहे परीक्षार्थी सुनील दोराया का कहना है कि पिछले दो सालों से रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा की तैयारी कर रहा हूं लेकिन पिछले दिनों नीट और एसआई भर्ती में जैसी शिकायत मिली है. उसके बाद अब भ्रष्टाचार और नकल का डर सताने लगा है. ऐसे में सरकार परीक्षा को पारदर्शी करवाने के लिए उचित कदम उठाते हुए विद्यार्थियों को राहत दे. 

बहरहाल, चाहे नीट परीक्षा हो या फिर एसआई या इससे पहले आयोजित हुई प्रतियोगी परीक्षाएं. हर भर्ती में कहीं ना कहीं नकल और भ्रष्टाचार के मामलों की जो परतें खुली हैं. उन्होंने कहीं ना कहीं परीक्षा आयोजन की तैयारियों को आईना दिखाया है. ऐसे में शिक्षा विभाग के सामने सबसे बड़ी चुनौती होगी कि प्रदेश की सबसे बड़ी परीक्षा को पारदर्शी और बिना विवादों के सम्पन्न करवा सकें.