Corona Control के लिए गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, ब्यूरोक्रेसी को मैदान में उतारा

कोरोना रोकथाम के लिए 25 आईएएस और 28 आरएएस की ड्यूटियां अब तक लगाई जा चुकी हैं.

Corona Control के लिए गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, ब्यूरोक्रेसी को मैदान में उतारा
कोरोना रोकथाम के लिए 25 आईएएस और 28 आरएएस की ड्यूटियां अब तक लगाई जा चुकी हैं.

Jaipur: गहलोत सरकार (Gehlot Government) ने प्रदेश में बेकाबू होते कोरोना वायरस (Coronavirus) की रोकथाम के लिए संपूर्ण ब्यूरोक्रेसी को झोंक दिया है. IAS और RAS अपने मूल विभाग के काम को छोड़कर चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को अपनी सेवाएं दे रहे हैं. 

यह भी पढ़ें- राजस्थान के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी, केंद्र के संपर्क में सरकार: CM गहलोत

कोरोना रोकथाम के लिए 25 आईएएस और 28 आरएएस की ड्यूटियां अब तक लगाई जा चुकी हैं. इसके साथ ही कई अधिकारियों की ड्यूटियां चिकित्सा विभाग के साथ ही कलक्टरों को भी सौंपी हैं, ताकि कोरोना पर लगाम लगाई जा सके. 

यह भी पढ़ें- Corona से टूटती आस को मिली नई उम्मीद, Radha Swami Covid Center की आज से शुरुआत

कई अधिकारियों की लगाई गई ड्यूटी
प्रदेश में लगातार हो रहे कोरोना विस्फोट पर काबू करने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है. कोरोना संक्रमण (Corona infection) लगाम लगाने के लिए गहलोत सरकार ने पूरी ताकत लगा दी है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 16 अप्रैल से लेकर 24 अप्रैल तक सरकार ने 50 से ज्यादा नौकरशाहों को कोविड की रोकथाम में ड्यूटी लगाई है. इन अधिकारियों में वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों से लेकर आईपीएस और वरिष्ठ आरएएस अधिकारी भी शामिल हैं. इन अधिकारियों को कोविड-19 की रोकथाम में अतिरिक्त चार्ज दिया गया है. कोविड-19 की रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जिलों के प्रभारी सचिवों को भी टास्क दिया है.

इन आईएएस की कोविड में ड्यूटी
रोहित गुप्ता, शुचि त्यागी, सोहन लाल, गुंजन सिंह, धीरज कुमार सिंह, सिद्धार्थ पालानीचामी, प्रतीभा वर्मा, मृदुल सिंह, गौरव गोयल, लक्ष्मण सिंह कुड़ी, हृदेश कुमार शर्मा, जोगाराम, ओम प्रकाश कसेरा, रवि जैन, भवानी सिंह देथा, नारायण लाल मीणा, केके पाठक, प्रीतम बी यशवंत, अभिषेक भगोतिया, दीपक नंदी, मुक्तानंद अग्रवाल, ओमप्रकाश बुनकर, संदेश नायक, डॉ भंवर लाल, निशांत जैन.

इन आरएएस की कोविड में ड्यूटी
नवनीत कुमार, आनंद लाल वैष्णव, नारायण सिंह चारण, परशुराम धानका, सुभाष महरिया, मीनाक्षी मीणा, अल्का विश्नोई, मोहन सिंह, सोमदत्त दीक्षित, करतार सिंह, आकाश रंजन, सुरेंद्र सिंह यादव, हरिताभ कुमार आदित्य, कैलाश नारायण मीणा, सुरेश नवल, हरजीलाल अटल, भागचंद बधाल, प्यारे लाल सोंथवाल, टीकमचंद बोहरा, महावीर प्रसाद मीणा, खजान सिंह, अरूण गर्ग, बाबूलाल गोयल, पुरूषोत्तम शर्मा, जसवंत सिंह, राजेश वर्मा, सुनील भाटी, सुभाष महरिया.

सीएम तक पहुंच रही सभी जिलों की दैनिक रिपोर्ट
वहीं, गहलोत सरकार की ओर से बनाए गए प्रदेश स्तरीय कोविड 19 कंट्रोल रूम में भी 20 से ज्यादा नौकरशाहों की ड्यूटी लगाई गई है. इनमें आईपीएस और आरएएस अधिकारी भी शामिल हैं. इस कंट्रोल रूम के जरिए प्रदेश के सभी जिलों की दैनिक रिपोर्ट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के पास प्रतिदिन पहुंच रही है. 

ऑक्सीजन और कोविड बेड की उपलब्धता के काम भी कंट्रोल रूम के जरिए किए जा रहे हैं. वहीं, कोविड-19 की रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जिलों के प्रभारी सचिवों को भी टास्क दिया है. प्रभारी सचिव जिलों में जाकर कोरोना रोकथाम को लेकर लोगों को जागरुक करेंगे साथ ही जिला स्तर पर हो हो रहे कामकाज की भी समीक्षा करेंगे.