पुलवामा अटैक पर जयपुर की यूनिवर्सिटी में कश्मीर छात्राओं का आपत्तिजनक FB पोस्ट

पोस्ट वायरल होने के बाद आक्रोशित लोगों ने निम्स यूनिवर्सिटी के दरवाजे बन्द कर दिए.

पुलवामा अटैक पर जयपुर की यूनिवर्सिटी में कश्मीर छात्राओं का आपत्तिजनक FB पोस्ट
निम्स में पढ़ने वाली कश्मीरी छात्राओं ने पुलवामा अटैक पर आपत्तिजनक टिप्पणी की हैं.

जयपुर: राजधानी जयपुर के निम्स यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली कश्मीरी छात्राओं ने पुलवामा की घटना के बाद आपत्तिजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर डाला था, जिसके बाद स्थानीय पुलिस ने आरोपी छात्राओं को हिरासत में लिया है. बताया जा रहा है कि इन कश्मीरी छात्राओं को यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पुलिस के सुपर्द किया है. पुलिस चारो छात्राओं से फिलहाल पूछताछ कर रही है. पोस्ट वायरल होने के बाद इन छात्राओं के खिलाफ यूनिवर्सिटी में नारे भी लगे. इस घटना के कारण यहां पढ़ने वाले अन्य छात्र-छात्राओं और स्थानीय लोगों मे भारी आक्रोश है. सूत्रों के अनुसार, यूनिवर्सिटी प्रशासन आरोपी 4 कश्मीरी छात्राओं को देश विरोधी गतिविधियों में संलिप्त पाए जाने के कारण निलंबित कर चुकी है.

आपको बता दें कि, निम्स यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली कश्मीर की चार छात्राओं ने पुलवामा की घटना के घटना का समर्थन करते हुए सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया था. जिसमें उन्होंने पुलवामा की घटना पर लस्सी के साथ फोटो शेयर की थी. जिसमें लिखा था 'हमारा बाहर में चल रहे विरोध का जवाब'  #pulwama attack लिखा था. जिसकी जानकारी होने के बाद आक्रोशित लोगों ने निम्स यूनिवर्सिटी के दरवाजे बन्द कर दिया. घटना की जानकारी होने के बाद जयपुर की चन्द्ववाजी थाना पुलिस मौके पर पहुंची थी. 

 

सूत्रों के अनुसार, पुलवामा की घटना के बाद वॉट्सऐप पर इसे सही ठहराते हुए फोटो के साथ इस संदेश को भी डाला गया था. जिसके बाद उन्हें यूनिवर्सिटी ने कॉलेज और हॉस्टल से तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. 

पुलवामा शहीदों के खिलाफ आपत्तिजनक शब्द कहने वाला प्राधानाचार्य निलंबित
पुलवामा आतंकी हमले में शहीद सैनिकों के खिलाफ कथित तौर पर अपशब्दों का इस्तेमाल करने वाले एक सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य को निलंबित कर दिया गया है तथा पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

अधिकारियों के अनुसार यह राजस्थान के प्रतापगढ जिले के कुणी स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य मोहम्मद इकराम अजमेरी ने शनिवार को सुबह प्रार्थना सभा के दौरान पुलवामा के शहीदों के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्प्णी की, जिसके बाद उसे निलंबित कर दिया गया . इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया और सड़क मार्ग अवरुद्ध कर दिया.

हथुनिया के थानाधिकारी दौलत सिंह ने बताया कि स्कूल कर्मचारियों की सूचना पर प्रधानाचार्य के खिलाफ सम्बद्ध धाराओं में मामला दर्ज किया गया है, वहीं माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने प्रधानाचार्य की प्रार्थना सभा में की गयी टिप्पणी को राष्ट्रीय एकता व अखंडता के खिलाफ मानते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है.

उल्लेखनीय है कि पुलवामा में गुरुवार को बर्बर आतंकी हमले में देश के 40 जवान शहीद हो गए जिनमें पांच राजस्थान के हैं.