राजस्थान: जानिए बजट 2019 पर आम जनों और व्यापारियों की प्रतिक्रियाएं..

 इस बजट को प्रदेश के लोगों ने आम लोगों की उम्मीदों के मुताबिक बताया है. वही, प्रदेश के व्यवसाइयों ने इस पर अपनी मिश्रित प्रतिक्रिया दी है.

राजस्थान: जानिए बजट 2019 पर आम जनों और व्यापारियों की प्रतिक्रियाएं..
लोगों का मानना है कि अब आम आदमी को घर खरीदने में आसानी होगी. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर: देश का बजट शुक्रवार लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण के माध्यम से पेश किया. इस बजट को प्रदेश के लोगों ने आम लोगों की उम्मीदों के मुताबिक बताया है. वही, प्रदेश के व्यवसाइयों ने इस पर अपनी मिश्रित प्रतिक्रिया दी है.

बजट पेश होने के बाद जी मीडिया ने प्रदेश के आम जनों से बातचीत की. इस दौरान लोगों ने कहा कि बजट लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरा है. जिसे तैयार करने के दौरान गांव,गरीब और किसानों को ध्यान में रखा गया. प्रदेश के लोगों का मानना है कि अब आम आदमी को घर खरीदने में आसानी होगी और देश के हर व्यक्ति को पानी मिलेगा.

जबकि प्रदेश उद्यमियों को 2019 का आम बजट खट्टा-मीठा लगा. प्रदेश के ज्यादातर व्यापारियों ने कहा कि इसमें शामिल भावी लक्ष्यों को देखकर इसे बेहतर बजट बताया जा सकता है. उद्यमियों का मानना है कि अगर वित्त मंत्री के तय 10 लक्ष्यों पर काम हुआ तो परिणाम काफी सकारात्मक होंगे.
 
उद्यमियों का यह भी मानना है कि 'गांव, गरीब और किसान' तथा प्रत्येक नागरिक के जीवन को अधिक सरल और नारी तू नारायणी को लक्ष्य बनाकर पेश किए बजट कई वित्तीय प्रावधान सख्त अवश्य हैं, लेकिन इनके परिणाम बेहतर होंगे.

आपको बता दें कि, बजट में बुनियादी आर्थिक और सामाजिक ढांच के विस्तार, पेंशन और वीमा योजाओं को आम लोगों की पहुंच के दायरे में ले जाने के विभिन्न प्रस्ताव किए गए है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करने के दौरान कहा कि भारत तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था हैं. इसे पचास लाख अरब तक ले जाने का लक्ष्य है. 

बजट पेश करने के दौरान किसान, शिक्षा और ऑटोमोबाइल से लेकर एविएशन से जुड़े अहम ऐलान हुए. बजट में वित्त मंत्री ने अमीरों को झटका दिया. वहीं, मीडिल क्लास को कुछ खास राहत मिलती नहीं दिखी.