close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PoK में भारत की हवाई कार्रवाई के बाद चुरू में बोले PM- 'मेरा वचन है कि भारत मां का सिर नहीं झुकने दूंगा'

पीएम मोदी ने आगे कहा कि चुरू के हजारों नौजवान सीमा पर राष्‍ट्र रक्षा में डटे हुए हैं. इसलिए आपका सम्‍मान, सेवा मेरे लिए बहुत अहम है. 

PoK में भारत की हवाई कार्रवाई के बाद चुरू में बोले PM- 'मेरा वचन है कि भारत मां का सिर नहीं झुकने दूंगा'

चूरूप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के चुरू में जनता को संबोधित करतेे हुए कहा कि 'आज आपका मिजाज कुछ और लग रहा है. आपकी ये भावनाएं और उत्‍साह मैं भली-भांति समझ रहा हूं. आज चुरू की धरती से मैं देशवासियों को विश्‍वास दिलाता हूं कि देश सुरक्षित हाथों में है. चुरू की धरती से मैं देशवासियों को एक बार फिर 2014 के संकल्‍पों को दोहराता हूं कि सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा. मैं देश नहीं झुकने दूंगा. मेरा वचन है भारत मां को तेरा शीश झुकने नहीं दूंगा. जाग रहा है देश मेरा, हर भारतवासी जीतेगा. देशवासियों हमें फिर से दोहराना है और खुद को याद दिलाना है न भटकेंगे, न अटकेंगे कुछ भी हो हम देश नहीं मिटने देंगे'.

पीएम मोदी ने आगे कहा कि 'चुरू के हजारों नौजवान सीमा पर राष्‍ट्र रक्षा में डटे हुए हैं. इसलिए आपका सम्‍मान, सेवा मेरे लिए बहुत अहम है. आपके इस प्रधान सेवक ने शहीदों के परिवारों से पूर्व सैनिकों से ओआरओपी को लागू करने का भी वादा किया था'. पीएम मोदी ने आगे कहा कि 'हमारे लिए खुद से बड़ा दल और दल से भी बड़ा देश है'. प्रधानमंत्री ने कहा कि 'हम जय जवान, जय किसान और जय विज्ञान के साथ आगे बढ़ रहे हैं'.

पीएम ने कहा कि 'राजस्‍थान की सरकार ने केंद्र को अब तक किसानों की लिस्‍ट नहीं सौंपी है, जबकि एक करोड़ से अधिक किसानों को मदद की पहली किस्‍त मिल गई है'.

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के अंत में जनता से कहा कि आज ऐसा अवसर है कि पूरी ताकत से बोलो 'भारत माता की जय'

शेखावाटी क्षेत्र में पीएम मोदी की यात्रा पुलवामा आतंकी हमले के मद्देनजर महत्व रखती है. पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे. दरअसल, शेखावाटी क्षेत्र के लोग बड़ी संख्या में पिछले काफी वक्त से सशस्त्र बलों में शामिल हो रहे हैं. लिहाजा, पीएम मोदी की इस रैली पर देश और दुनियाभर की नजरें हैं. इस दौरान राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और क्षेत्र के अन्य प्रमुख स्थानीय नेता पीएम मोदी के साथ मौजूद हैं.

पीएम मोदी के इस दौरे को लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर भी देखा जा रहा है. पीएम मोदी की रैली का बीकानेर, श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़, झुंझुनू और सीकर सहित लगभग 5 लोकसभा सीटों पर प्रभाव पड़ेगा. इस क्षेत्र में 40 विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं, जिनमें से 13 का प्रतिनिधित्व वर्तमान विधानसभा में बीजेपी कर रही है, जबकि 22 सीटों पर कांग्रेस के प्रतिनिधि हैं. पीएम मोदी की यात्रा के मद्देनजर चूरू में सुरक्षा कड़ी है. कार्यक्रम स्थल और उसके आसपास पुलिस और एसपीजी के 3200 जवानों को तैनात किया गया. 

उल्‍लेखनीय है कि जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर पाकिस्‍तान समर्थित जैश-ए-मोहम्‍मद द्वारा किए गए आतंकी हमले से नाराज भारत की तरफ से मंगलवार तड़के PoK में जैश के प्रमुख ठिकाने पर कार्रवाई कर दी गई. भारतीय वायुसेना की तरफ से की गई इस 'सर्जिकल स्‍ट्राइक' में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में चल रहे जैश के आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए बमबारी की गई की गई. भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई पर भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर जानकारी साझा की.

उन्‍होंने बताया कि 14 जनवरी को पुलवामा में पाक समर्थित जैश के आतंकियों ने हमला किया. इसे बहावलपुर में बैठे जैश सरगना मसूद अजहर और उसके सरपरस्‍तों की तरफ से अंजाम दिलवाया गया. PoK में सैंकड़ों जिहादी कैंप चल रहे हैं. पाकिस्‍तान उन पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. पुख्‍ता इंटेलिजेंस इनपुट था कि जैश के आतंकी भारत के अन्‍य इलाकों में भी फि‍दायीन हमला कर सकते हैं. इसके बाद भारत ने पीओके स्थित आतंकी कैंपों पर बड़ी कार्रवाई की. इस कार्रवाई में बालाकोट में जैश के सीनियर कमांडर समेत कई आतंकी मारे गए. इस हमले में जैश के सबसे बड़े कैंप को नुकसान पहुंचाया गया. इसमें किसी भी आम नागरिक को नुकसान नहीं पहुंचा और इस बात का ख्‍याल रखा गया था. उन्‍होंने बताया कि घने जंगलों में यह आतंकी कैंप मौजूद थे.

इस हमले के वक्‍त मसूद अजहर का करीबी रिश्‍तेदार मौलाना युसूफ अजहर, जोकि जैश-ए-मोहम्‍मद का टॉप लीडर भी था, वह भी कैंप भी मौजूद था.

पाकिस्‍तान के लड़ाकू विमानों ने भी भर ली थी उड़ान, लेकिन वे वापस लौट गए, जानें क्‍यों

सूत्रों की मानें तो भारतीय वायुसना के 12 मिराज-2000 लड़ाक विमानों ने जैश के आंतकी ठिकानों पर 1000 किलो से ज्यादा विस्फोटक गिराए. इन विस्‍फोटकों ने जैश के ठिकानों को तबाह कर दिया.

सूत्रों के अनुसार, भारतीय वायुसेना ने आज सुबह 03.30 बजे ये बमबारी की. पुलवामा हमले के बाद हुई इस कार्रवाई को पाकिस्तान ने भी स्वीकार कर लिया है. पाकिस्तानी सेना ने स्वीकारा है कि भारतीय वायुसेना ने पीओके में दाखिल होकर कार्रवाई की है. पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने दावा किया कि भारतीय वायुसेना के विमानों ने लाइन ऑफ कंट्रोल का उल्लंघन किया है. पाक सेना के प्रवक्ता ने ट्वीट किया, 'भारतीय वायुसेना ने एलओसी का उल्लंघन किया. हमने तुरंत जवाब दिया, जिसके बाद भारतीय वायुसेना के विमान वापस अपनी सीमा में लौट गए.'

इसके बाद एक अन्य ट्वीट में गफ्फूर लिखा कि 'भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद सेक्टर से घुसने की कोशिश की, समय रहते ही पाकिस्तान एयरफोर्स ने जवाबी कार्रवाई की. जिसके बाद वह बालकोट की तरफ वापस लौट गया. किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है.'