राजस्थान: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में HC ने रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक बढ़ाई

पूर्व में स्काई लाईट होस्पिटेलिटी की याचिका पर सुनवाई करते हुए राबर्ट वाड्रा और मोरिन वाड्रा को राहत देने से इंकार करते हुए उन्हें ईडी के समक्ष पेश होकर बयान दर्ज कराने के निर्देश दिए थे.

राजस्थान: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में HC ने रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक बढ़ाई
फाइल फोटो

बीकानेर/ भवानी भाटी: राजस्थान हाईकोर्ट मुख्य पीठ जोधपुर ने स्काई लाईट होस्पिटेलिटी के लिमिटेड लाइबलिटी पार्टनर रॉबर्ट वाड्रा और मोरिन वाड्रा की गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक को अगले आदेश तक आगे बढ़ाते हुए सुनवाई को 12 जुलाई तक टाल दिया है. राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस विजय विश्नोई की अदालत में आज मामला सुनवाई के लिए सूचीबद्ध था, लेकिन अधिवक्ताओ के स्वेच्छिक न्यायिक कार्य नहीं करने की वजह से दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं ने संयुक्त रूप से अनुरोध कर 12 जुलाई की तारीख मुकरर्र करवाई है. 

पूर्व में गिरफ्तारी पर लगाई अंतरिम रोक को अगले आदेश तक आगे बढ़ा दिया गया था. पूर्व में स्काई लाईट होस्पिटेलिटी की याचिका पर सुनवाई करते हुए रॉबर्ट वाड्रा और मोरिन वाड्रा को राहत देने से इंकार करते हुए उन्हें ईडी के समक्ष पेश होकर बयान दर्ज कराने के निर्देश दिए थे. केन्द्र सरकार की ओर से कहा गया था कि लिमिटेड लाइबलिटी पार्टनर रॉबर्ट वाड्रा और मोरिन वाड्रा स्काई लाइट कम्पनी के पार्टनर हैं. 

इसलिए रोबर्ट और मोरिन वाड्रा से पूछताछ करना ईडी के लिए आवश्यक है. यह मनी लॉंडरिंग में प्रारम्भिक जंच कर रही है. इस पर कोर्ट ने दोनों पार्टनर को ईडी के सामने पेश होने के आदेश देते हुए गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक लगाई थी. दोनों ही पार्टनर रॉबर्ट वाड्रा और मोरिन वाड्रा ईडी के सामने पेश हुए थे और पूछताछ में सहयोग किया था. यह पूरा मामला कोलायात बीकानेर में जमीन घोटाले का है.