close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: आईटीआई सेंटर होंगे हाईटैक, कैमरे से की जाएगी लाइव मॉनिटरिंग

सरकार ने पिछले साल 29 आईटीआई सेंटर्स की मान्यता रद्द की है, जबकि 55 आईटीआई सेंटर्स की मान्यता रद्द करने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखा था.

राजस्थान: आईटीआई सेंटर होंगे हाईटैक, कैमरे से की जाएगी लाइव मॉनिटरिंग

जयपुर: राजस्थान सरकार अब आईटीआई सेंटर्स को हाईटैक बनाने जा रही है. सभी आईटीआई सेंटर पर अब इंटरनेट प्रोटोकॉल कैमरा लगाए जाएंगे. जिससे अधिकारी दफ्तर में बैठे बैठे हर आईटीआई सेंटर की मॉनिटरिंग कर सकेंगे. आईटीआईट सेंटर में हो रहे फर्जीवाड़े को देखते हुए सरकार ने ये बड़ा फैसला लिया है. जिसके बाद फर्जीवाडों पर भी लगाम लगेगी और आईटीआई सेंटर्स भी हाईटेक बन पाएंगे.

स्किल राजस्थान को चूना लगाने वाले आईटीआई सेंटर पर अब सरकार की पूरी तरह से लगाम रहेगी क्योंकि अब आईटीआई सेंटर को सरकार हाईटैक करने जा रही है. प्रदेश के सभी हाईटेक सेंटर कैमरों से लेस होंगे. आईटीआई सेंटर्स पर इंटरनेट प्रोटोकॉल कैमरा लगवाएं जाएंगे, जिससे आईटीआई सेंटर्स की मॉनिटरिंग की जा सकेगी. जिससे स्टूडेंट्स की अनुपस्थिति ठीक तरह से पता चल सकेगी. इस सिस्टम का सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि आईटीआई संचालक मनमाने तरीके से स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ाकर रोजगार के नाम पर सरकारी पैसों को नहीं लूट पाएंगे.

सरकार ने पिछले साल 29 आईटीआई सेंटर्स की मान्यता रद्द की है, जबकि 55 आईटीआई सेंटर्स की मान्यता रद्द करने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखा था. रोजगार के नाम पर फर्जीवाड़े को लेकर स्किल राजस्थान के पास 750 से ज्यादा शिकायतें भी आई थीं. हालांकि इससे पहले आईटीआई सेंटर्स को आधार बॉयोमैट्रिक सिस्टम से भी जोड़ा जाना था, लेकिन वो अब तक नहीं जुड़ पाए हैं. सरकार पहले चरण में 170 आईटीआई सेंटर्स पर कैमरे से मॉनिटरिंग करेगी, उसके बाद ये प्रयोग सफल रहा तो दूसरे सेंटर्स पर भी लगाए जाएंगे.

इस सिस्टम से आईटीआई सेंटर्स पर पॉवरफुल मॉनिटरिंग होगी, जिससे इन सेंटर्स पर हो रहे फर्जीवाड़े पर पूरी तरह से लगाम लगेगी लेकिन देखना यह होगा कि ये नया सिस्टम कब तक लागू हो पाता है.