close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान के सर्विस वोटर्स भी देंगे मतदान, पहली बार होगा ETPBS का इस्तेमाल

मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि लोकसभा चुनाव में पहली बार ईटीपीबीएस तकनीक का इस्तेमाल किया गया है. 

राजस्थान के सर्विस वोटर्स भी देंगे मतदान, पहली बार होगा ETPBS का इस्तेमाल
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर/ भरत राज: लोकसभा चुनाव में पहली बार प्रदेश के 1 लाख 36 हजार 595 सर्विस वोटर्स को मतदान के लिए इलेक्ट्रोनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट्स जारी कर दिए गए हैं. पहले चरण की 13 लोकसभा सीटों के लिए 25 हजार 840 और द्वितीय चरण की 12 सीटों के लिए 1 लाख 10 हजार 755 सर्विस वोटर्स के लिए ऑनलाइन बैलेट पेपर्स भेजे गए हैं.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि लोकसभा चुनाव में पहली बार ईटीपीबीएस तकनीक का इस्तेमाल किया गया है. सर्विस वोटर्स को पहले डाक से मतपत्र भेजे जाते थे, जिनसे उनकी मतदान में पूर्ण भागीदारी नहीं हो पाती थी. नई व्यवस्था के बाद सेवा नियोजित मतदाताओं के मत प्रतिशत में बढ़ोतरी होने की खासी संभावना है. 

लोकसभा सीटवार सेवा नियोजित मतदाता
पहले चरण में टोंक-सवाईमाधोपुर में 2,324, अजमेर में 3,530, पाली में 4,889, जोधपुर में 5,362, बाड़मेर में 2,212, जालौर में 345, उदयपुर में 261, बांसवाड़ा में 170, चितौड़गढ़ में 540, राजसमंद में 3,570, भीलवाड़ा में 1,465, कोटा में 765 और झालावाड़-बारां में 407 सर्विस वोटर्स हैं. 

वहीं दूसरे चरण में श्रीगंगानगर में 1,830, बीकानेर में 2,193, चूरू में 8,640, झुंझूनूं में 28,995, सीकर में 16,782, जयपुर ग्रामीण 9,056, जयपुर में 1,303, अलवर में 14,906, भरतपुर में 9,618, करौली-धौलपुर में 4,917, दौसा में 3,913 और नागौर में 8,602 सर्विस वोटर्स के लिए ई-बैलेट पेपर्स जारी कर दिए गए हैं.

सर्विस मतदाता रिकॉर्ड आफिस से ई-डाक मतपत्र प्राप्त कर अपना वोट रिकॉर्ड कर इसे डाक द्वारा वापस संबंधित रिर्टनिंग ऑफिसर को भेजेंगे. ई-बैलेट की तकनीकी सुरक्षा के लिए इसमें विशेष क्यूआर कोड मुद्रण की भी विशेष व्यवस्था की गई है. अब से पहले यह व्यवस्था दोनों तरफ डाक द्वारा की जाती थी.