close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: योग मास्टर्स ने शुरू की 'मून मेडिटेशन', कहा- इससे जीवन में आएगी शीतलता

योग ने पिछले कई सालों में दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है ओर इसी योग को करने की भी कई तरह की विधाए हैं. 

राजस्थान: योग मास्टर्स ने शुरू की 'मून मेडिटेशन', कहा- इससे जीवन में आएगी शीतलता
प्रतीकात्मक तस्वीर

बीकानेर: एक तरफ जहां पूरी दुनिया योग दिवस मनाने की तैयारी कर रही हैं तो वहीं रेगिस्तान के शहर बीकानेर में योगा मास्टर्स ने योगा को चांद से जोड़ते हुए अलग प्रयोग शुरू किया है, जिसे मून मेडिटेशन का नाम देते हुए जीवन में शीतलता और विनम्रता देने वाली अनोखी प्रक्रिया बताई है. 

योग ने पिछले कई सालों में दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है ओर इसी योग को करने की भी कई तरह की विधाए हैं. अल सुबह किए जाने वाले योग का अपना महत्व है. वहीं बीकानेर के योगा मास्टर्स ने योग और चांद को एक साथ जोड़ते हुए अनोखा प्रयोग किया है. जहां रेगिस्तान में “मून मेडिटेशन” के नाम से चांद और योग के कनेक्शन की शुरूआत की है, क्योंकि चांदनी रात और चांद के साथ योग करना जीवन में शीतलता लाएगा ऐसा इन योगा मास्टर्स का मानना हैं.

बीकानेर के जवाहर पार्क में होने वाले योगा कार्यक्रम को अब इस साल होने वाले योग दिवस पर रात्रि के समय में मून से जोड़ने की तैयारी है. इस खास प्रयोग की शुरूआर पूर्णिमा की रात को चुना गया जब चांद अपने पूर्ण स्वरूप में नजर आता है और रात की ख़ामोशी में मन और मस्तिष्क को एक अलग अनुभूति प्रदान करने वाले इस तरह के मून मेडिटेशन को योग दिवस पर खासतौर पर करने की कवायद की जा रही हैं. योग गुरुओं का मानना है कि इस तरह के योग से आपकी आंखों की ज्योति तेज होगी तो कई अलग तरह के फायदे होंगे तो वहीं आम लोग भी इसे अद्भुत मान रहे हैं. जिंदगी के इस भाग दौड़ के बीच रेगिस्तान के लोग का इस ध्यान योग का प्रयोग अपने आप में अनूठा कहा जा सकता हैं.