पैरा वर्ल्ड कप में राजस्थान की बेटी ने जीते दो गोल्ड मैडल, किया देश का नाम रोशन

निशा कंवर ने बताया कि " उन्होंने एक साल पहले ही निशानेबाजी में किस्मत आजमने का फैसला किया था और शारीरिक कमजोरी को अपनी ताकत बनाया.

पैरा वर्ल्ड कप में राजस्थान की बेटी ने जीते दो गोल्ड मैडल, किया देश का नाम रोशन
जयपुर पहुंचने पर पीसीसी सचिव बालेंदु सिंह शेखावत ने निशा और उनके माता-पिता का स्वागत किया.

जयपुर: 20 जुलाई से 30 जुलाई तक क्रोएशिया के ओसिजेक में आयोजित पैरा वर्ल्ड कप में राजस्थान की निशा कंवर ने दो गोल्ड मैडल जीतकर सिर्फ अपने माता-पिता ही नहीं बल्कि देश का भी नाम रोशन किया है. ओसिजेक में आयोजित इस वर्ल्ड कप में निशा कंवर ने 10 मीटर एयर पिस्टर के एकल और टीम मुकाबले में गोल्ड पर निशाना साधा. जयपुर पहुंचने पर गुरुवार को पीसीसी सचिव बालेंदु सिंह शेखावत सहित कई खिलाड़ियों ने निशा कंवर और उनके माता-पिता का स्वागत किया.

निशा कंवर ने बताया कि " उन्होंने एक साल पहले ही निशानेबाजी में किस्मत आजमने का फैसला किया था और शारीरिक कमजोरी को अपनी ताकत बनाया. इसके साथ ही निरंतर मेहनत और प्रयास के चलते आज देश का नाम रोशन कर उन्हें गौरव महसूस हो रहा है. इसके साथ ही निशा कंवर ने बताया कि पैरा ओलम्पिक में देश के लिए पदक जीतना ही उनका लक्ष्य है."

निशा कंवर के पिता जितेन्द्र सिंह शेखावत ने बताया कि "निशा घर से बहुत कम बाहर निकलती थी और खुद को दूसरे से अलग समझती थी लेकिन हमें पता था कि एक दिन निशा पूरी दुनिया में अपनी छाप छोड़ेगी. जितेन्द्र सिंह ने बताया कि एक साल पहले निशा के जीजा ने शूटिंग में अपना भाग्य आजमाने की बात कही और अजमेर की ही शूटिंग एकेडमी में निशा को एडमिशन दिलाया और उसके बाद निशा ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा."

जयपुर पहुंचने पर निशा कंवर का स्वागत करने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. पीसीसी सचिव बालेंदु सिंह शेखावत ने निशा कंवर का गुलदस्ते भेंट कर स्वागत किया. पीसीसी सचिव बालेंदु सिंह ने कहा कि "आज निशा उन सभी लोगों के लिए प्रेरणा बन चुकी है जो अपने आप को शारीरिक रुप से कमजोर समझते हैं क्योंकि कमजोरी शरीर में हो सकती है इरादों में नहीं."