अजमेर: SC ने खारिज की याचिक, 29 जून से शुरू होंगी दसवीं बोर्ड की शेष परीक्षाएं

सुप्रीम कोर्ट की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने सुनवाई के बाद माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान के पक्ष को सही मानते हुए याचिका को खारिज कर दिया.

अजमेर: SC ने खारिज की याचिक, 29 जून से शुरू होंगी दसवीं बोर्ड की शेष परीक्षाएं
दसवीं का गणित विषय का पेपर है, जिसमें 11 लाख 87 हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे.

अजमेर: माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Rajasthan Board) राजस्थान की दसवीं बोर्ड की शेष रही परीक्षाओं को रद्द करने की मांग करने वाली याचिका को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने खारिज कर दिया है. छुट्टी के बावजूद रविवार के दिन भी सुप्रीम कोर्ट ने इस विषय पर सुनवाई के निर्देश दिए थे और सुप्रीम कोर्ट की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने सुनवाई के बाद माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान के पक्ष को सही मानते हुए याचिका को खारिज कर दिया.

यह याचिका बीकानेर की माधा देवी द्वारा अपने वकील रौनक करणपुरिया के माध्यम से लगाई थी. इस याचिका में मुख्य रूप से कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के खतरे को देखते हुए, 4 बिंदुओं को सुप्रीम कोर्ट के समक्ष रखा गया था. लेकिन माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान द्वारा सुप्रीम कोर्ट को बताया गया कि, केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा जो कोरोना गाइडलाइन जारी की गई है. उसी के तहत इन परीक्षाओं का आयोजन किया जा रहा है.

इसके साथ ही, परीक्षा के दौरान विद्यार्थी और परीक्षा कार्य में लगाए स्टाफ संक्रमित ना हो, इसके लिए इस परीक्षा में मास्क की अनिवार्यता को लागू किया गया है. किसी भी छात्र को परीक्षा केंद्र में बिना थर्मल स्कैनिंग प्रवेश नहीं दिया जा रहा है और साथ ही परीक्षा से पूर्व और परीक्षा के पश्चात परीक्षा केंद्रों को चयनित किया जाता है.

सुप्रीम कोर्ट ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान द्वारा दिए गए तर्कों से सहमत होते हुए, याचिका को खारिज कर दिया. गौरतलब है कि, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान की दसवीं की शेष रही बोर्ड परीक्षाएं सोमवार से शुरू होंगी जो आगामी 2 दिनों तक जारी रहेगी.

दसवीं का गणित विषय का पेपर है, जिसमें 11 लाख 87 हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे. जिनके लिए प्रदेश भर में 6200 परीक्षा केंद्र गठित किए गए हैं. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान के अध्यक्ष डीपी जारोली ने शिक्षा विभाग के साथ ही चिकित्सा विभाग और गृह विभाग का आभार व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि, राज्य सरकार और उसके संबंधित विभागों के सहयोग से ही यह परीक्षाएं निर्विघ्न संपन्न होने जा रही है.