एक्शन मोड में आबकारी विभाग, प्रदेशभर में ताबड़तोड़ कार्रवाइयां जारी

शराब के अवैध कारोबार पर लगाम लगाने को लेकर आबकारी विभाग अब पुरी तरह से एक्शन मोड में है.

एक्शन मोड में आबकारी विभाग, प्रदेशभर में ताबड़तोड़ कार्रवाइयां जारी
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Udaipur : शराब के अवैध कारोबार पर लगाम लगाने को लेकर आबकारी विभाग अब पुरी तरह से एक्शन मोड में है. इसके लिए विभाग ने प्रदेशभर में विशेष अभियान चला रखा है. जिससे शराब के अवैध कारोबार (Illegal Liquor Trade) पर लगाम लगाई जा सके. अभियान के तहत अबाकारी विभाग को कई बड़ी सफलता भी हाथ लगी है.

यह भी पढ़ें- डेढ़ साल से बंद है खाद्य सुरक्षा का पोर्टल, BJP नेता Ramlal Sharma ने बोला तीखा हमला

कोरोना संक्रमण के इस दौर ने प्रदेश सरकार (Rajasthan Government) के कमाउ पुत में शामिल आबकारी विभाग (Excise Department) को भी काफी प्रभावित किया है. संक्रमण के दौर में शराब की बिक्री में कमी आई. जिसका सिधा असर आबकारी विभाग के राजस्व पर भी पड़ा है. यही नहीं इस दौरान प्रदेश में पनपे शराब के अवैध कारोबार ने भी आबकारी विभाग के राजस्व अर्जन को काफी प्रभावित किया है. ऐसे में अपने राजस्व लक्ष्य को पुरा करने के लिए विभाग के आबकारी निरोधक दल ने प्रदेशभर में शराब के अवैध कारोबार के खिलाफ विशेष अभियान की शुरूवात की. जिसमें टीम को कई बड़ी सफलताएं हाथ लगी है. अतिरिक्त आबकारी अधिकार सीआर देवासी ने बताया कि दल ने 1 अप्रैल से 26 जून तक प्रदेशभर में 35024 धावे मारें और 3389 अभियोग दर्ज किए हैं. इस दौरान अवैध कोराबार में लिप्त 1240 लोगों को गिरफ्तार किया गया और बड़ी मात्रा में देशी और अग्रेंजी शराब को जब्त किया गया. 

जानिए विभाग की टीम किस तहर अपनी कार्यवाही को अंजाम दिया.
जब्त सामग्री                                   संख्या

देशी मदीरा                              90667 बोतल
भारत निर्मित विदेशी मदीरा         30584 बोलत
बीयर                                      6924 बोतल
हथकड शराब                          19299 बोतल
वॉश नष्ट किया                          904859 लीटर
वॉश जब्त किया                        7104 लीटर
स्प्रिट जब्त                               300 लीटर
शराब बनाने कीभट्टी नष्ट की       1060
वाहन जब्त किए                       150

बहरहाल आबकारी निराधक दल की की इन ताबड़ तोड़ कार्यवाही से विभाग को दोहरा लाभ मिल रहा है. एक ओर जहां प्रदेश में शराब के अवैध करोबार पर लगाम लगी है तो साथ ही आबकारी विभाग को हो रहे राजस्व हानि को भी रोकने में सफलता मिल रही है.

रिपोर्ट : अविनाश जगनावत

यह भी पढ़ें- Rajasthan BJP के युवा मोर्चा में अब तक जिलाध्यक्षों की घोषणा नहीं, उम्र बन रही बाधा!