कोटा को गंदा पानी सप्लाई कर रहा जलदाय विभाग, लोगों ने की शिकायत

जलदाय विभाग की बड़ी-बड़ी पानी की टंकियां, जिनके ज़रिए आपके घरों तक पीने का पानी पहुंचता है, उनकी सफाई नहीं होती है. 

कोटा को गंदा पानी सप्लाई कर रहा जलदाय विभाग, लोगों ने की शिकायत
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोटा: जलदाय विभाग की बड़ी-बड़ी पानी की टंकियां, जिनके ज़रिए आपके घरों तक पीने का पानी पहुंचता है, उनकी सफाई नहीं होती है. कभी-कभी शिकायत भी होती है कि पानी गंदा आ रहा है लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती है.
कोटा का विज्ञान नगर इलाक़ा और इस इलाक़े की विशालकाय पानी की टंकी इलाक़े के हज़ारों लोगों के घरों तक पीने का पानी पहुंचाने का काम करती है. कई बार घरों तक जो पानी जाता है, वो साफ़ नहीं होता है. वजह ये है कि समय पर पानी की टंकियों की सफ़ाई नहीं होती.

जब ज़ी मीडिया की टीम यहां पर इसकी पड़ताल करने के लिए पहुंची तो पाया कि टंकी के आसपास जो पाइप लाइनें गुज़र रही हैं, वहां पर बड़े पैमाने पर गंदगी जमा है. वहां से नाला गुज़र रहा है. पानी की टंकी पर एक जगह पर लिखा हुआ नज़र आता है कि आख़िरी बार इस पानी की टंकी की सफ़ाई 3.10.2019 को हुई हे लेकिन इसी टंकी के नीचे रहने वाले लोगों जलदाय विभाग के दावे को झूठा बताते हैं. उनका कहना है कि वो आए दिन गंदे पानी से परेशान हैं. उन्होंने कभी पानी की टंकी की सफ़ाई होते देखी ही नहीं.  

वहीं इस इलाक़े के ये जलदाय विभाग के अधिकारियों का दावा है कि समय-समय पर पानी की टंकियों की सफ़ाई होती है. इसको लेकर के अधिकारियों की मौजूदगी में सफ़ाई होती है और एक पूरे प्रॉसेस के तहत पानी की टंकियों की सफ़ाई को समय-समय पर पूरा किया जाता है तो अधिकारियों के दावे चाहे कुछ भी हो लेकिन हक़ीक़त उससे परे नज़र आती है.

ग्राउंड रिपोर्टिंग ज़रिये लोगों से बातचीत के ज़रिए साफ़ है कि इन टंकियों की सार संभाल समय पर नहीं की जाती. ऐसे में लोग गंदा पानी पीने को मजबूर होते हैं.