Aftab in Tihar: तिहाड़ में ये होगा आफताब का पता, CCTV और अधिकारी रखेंगे नजर, सेल से बाहर निकलने पर भी पाबंदी
topStories1hindi1459214

Aftab in Tihar: तिहाड़ में ये होगा आफताब का पता, CCTV और अधिकारी रखेंगे नजर, सेल से बाहर निकलने पर भी पाबंदी

Shraddha Murder Case: पुलिस अधिकारी सागर प्रीत हुड्डा ने कहा, 'पुलिस को डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट अभी तक नहीं मिली है. श्रद्धा हत्या केस में अब तक मिले शरीर के अंगों का डीएनए मिलाने के लिए उसके पिता और भाई के ब्लड सेंपल लिए गए थे.

Aftab in Tihar: तिहाड़ में ये होगा आफताब का पता, CCTV और अधिकारी रखेंगे नजर, सेल से बाहर निकलने पर भी पाबंदी

Aaftab Poonawala Polygraph Test: प्रेमिका श्रद्धा वालकर की हत्या कर उसके शव को 35 टुकड़ों में बांटने वाला आरोपी आफताब अमीन पूनावाला अब कड़ी निगरानी में तिहाड़ में रहेगा. उसे दिल्ली की तिहाड़ जेल में पहुंचा दिया गया है. इस जेल में आफताब पर जबरदस्त निगरानी की व्यवस्था की गई है. उस पर 24 घंटे सीसीटीवी की निगरानी के साथ-साथ जेल अथॉरिटी के अधिकारी भी नजर रखेंगे. आफताब को जेल में ज्यादा चहलकदमी की इजाजत नहीं होगी. उसके सेल से बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी. हालांकि, कुछ दिनों तक ही ये पाबंदी रहेगी. फिलहाल जेल में आफताब का मेडिकल चल रहा है.

कोर्ट द्वारा 13 दिनों की रिमांड पर भेजे जाने के बाद अब आफताब को तिहाड़ के जेल नंबर 4 में रखा जाएगा. उसे अधर-उधर जाने की इजाजत नहीं होगी. साथ ही उसे बाकी कैदियों से भी अलग रखा जाएगा. हालांकि उसके सेल में कुछ और कैदी भी रहेंगे.

नहीं मिली डीएनए रिपोर्ट

श्रद्धा वालकर हत्याकांड में डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट नहीं मिली है. पुलिस अधिकारी सागर प्रीत हुड्डा ने कहा, 'पुलिस को डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट अभी तक नहीं मिली है. श्रद्धा हत्या केस में अब तक मिले शरीर के अंगों का डीएनए मिलाने के लिए उसके पिता और भाई के ब्लड सेंपल लिए गए थे.

आफताब को शनिवार को कोर्ट ने 13 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. पुलिस अधिकारी हुड्डा ने बताया कि पॉलीग्राफी टेस्ट में कार्रवाई को आगे बढ़ाने के लिए आरोपी को पेश करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. शुक्रवार को रोहिणी स्थित एफएसएल में तीन घंटे तक पॉलीग्राफी टेस्ट हुआ.

पॉलीग्राफी टेस्ट के नतीजे तय करेंगे कि नार्को होगा या नहीं

एफएसएल के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक आफताब के साथ पॉलीग्राफी टेस्ट के सभी चरण पूरे कर लिए गए हैं. अब फॉरेंसिक एक्सपर्ट उसे रिजल्ट पर विशअलेषण करेंगे. इसी के आधार पर वो एक रिपोर्ट तैयार करेंगे. अगर वो नतीजों से संतुष्ट नहीं हुए तो उसे फिर से बुला सकते हैं. रिपोर्ट के नतीजों के आधार पर यह फैसला लिया जाएगा कि उसका नार्को टेस्ट किया जाना चाहिए या नहीं. 

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news