close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस की कलह सामने आई, मिलिंद देवड़ा पर संजय निरुपम का तंज, ये इस्‍तीफा है या आगे जाने का रास्‍ता

मिलिंद के इस्‍तीफे पर कांग्रेस के ही एक नेता संजय निरुपम ने तंज कसा है. हालांकि उन्‍होंने अपने इस तंज में कहीं भी उनका नाम नहीं लिया है. लेकिन ट्वीट को देखकर साफ है कि उन्‍होंने निशाना देवड़ा पर ही साधा है.

कांग्रेस की कलह सामने आई, मिलिंद देवड़ा पर संजय निरुपम का तंज, ये इस्‍तीफा है या आगे जाने का रास्‍ता

नई दिल्‍ली/मुंबई:  एक आश्चर्यजनक कदम उठाते हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से ठीक तीन महीने पहले मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद एम. देवड़ा ने रविवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. लेकिन इस इस्‍तीफे के तुरंत बाद ही कांग्रेस की कलह भी सामने आ गई. मिलिंद देवड़ा के इस्‍तीफे पर कांग्रेस के ही एक नेता संजय निरुपम ने तंज कसा है. हालांकि उन्‍होंने अपने इस तंज में कहीं भी उनका नाम नहीं लिया है. लेकिन ट्वीट को देखकर साफ है कि उन्‍होंने निशाना मिलिंद देवड़ा पर ही साधा है. दरअसल लोकसभा चुनावों में मुंबई कांग्रेस की कमान संजय निरुपम के हाथ से लेकर मिलिंद देवड़ा को दी गई थी.

मिलिंद देवड़ा के मुंबई कांग्रेस का अध्‍यक्ष पद छोड़ते ही संजय निरुपम ने दो ट्वीट किए. इसमें उन्‍होंने मिलिंद देवड़ा पर‍ निशाना साधते हुए लिखा, इस्तीफा में त्याग की भावना अंतर्निहित होती है. यहां तो दूसरे क्षण ‘नेशनल’ लेवल का पद मांगा जा रहा है. यह इस्तीफा है या ऊपर चढ़ने की सीढ़ी? पार्टी को ऐसे ‘कर्मठ’ लोगों से सावधान रहना चाहिए.

दरअसल मिलिंद देवड़ा ने अपना पद छोड़ते हुए पार्टी को विधानसभा चुनावों में जाने से पहले कुछ सुझाव भी दिए हैं. ये सुझाव भी संजय निरुपम को पसंद नहीं आए हैं. मिलिंद देवड़ा ने पार्टी को लिखा है कि उन्होंने शहर इकाई की देखरेख के लिए तीन वरिष्ठ नेताओं के सामूहिक नेतृत्व की अस्थायी व्यवस्था की सिफारिश की है. मिलिंद देवड़ा के कांग्रेस में राष्ट्रीय भूमिका के लिए नई दिल्ली जाने की संभावना है.

मिलिंद देवड़ा की इस सिफारिश पर कहा है कि मुंबई में अध्‍यक्ष की जगह 3 सदस्‍यों की समिति की नियुक्‍त‍ि का विचार सही नहीं है. ये भविष्‍य में पार्टी को बर्बाद कर देगा.

मिलिंद देवड़ा का मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा
मिलिंद देवड़ा के सहयोगी के अनुसार, 26 जून को नई दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के निवर्तमान अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने के तुरंत बाद देवड़ा ने पद छोड़ने की इच्छा व्यक्त की थी. देवड़ा के कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया है, "इस बात की जानकारी अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिवों मल्लिकार्जुन खड़गे और के.सी. वेणुगोपाल को भी दे दी गई है."

मिलिंद देवड़ा को संजय निरुपम की जगह 2019 लोकसभा चुनाव की पूर्व संध्या पर मुंबई कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था. उनके इस कदम को 'निवर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष गांधी के इस्तीफे के साथ एकजुटता और सामूहिक जिम्मेदारी की अभिव्यक्ति' के रूप में देखा जा रहा है.

हालांकि, देवड़ा ने 4 जुलाई को गांधी की मुंबई यात्रा का आयोजन किया. उन्होंने कहा कि चुनावों की तैयारी के लिए उन्हें जो समय दिया गया था वह बहुत कम था और बहुत देर हो चुकी थी. फिर भी अपने संक्षिप्त कार्यकाल के दौरान उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं को एकजुट किया और मुंबई कांग्रेस में पहचान की राजनीति को समाप्त कर दिया, इस उम्मीद में कि पार्टी एक बार फिर अपने बहुभाषी, बहुसांस्कृतिक और सामाजिक-आर्थिक रूप से समावेशी आदर्शो पर लौटेगी.

input : IANS