अनंत कुमार हेगड़े के दावे पर देवेंद्र फडणवीस बोले, 'केंद्र को नहीं दिया गया कोई पैसा'

बीजेपी सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने दावा किया था कि केंद्र सरकार का 40 हजार करोड़ बचान के लिए फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ली थी. 

अनंत कुमार हेगड़े के दावे पर देवेंद्र फडणवीस बोले, 'केंद्र को नहीं दिया गया कोई पैसा'
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (फोटो- ANI)

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने बीजेपी (BJP) सांसद और पूर्व केंद्रीय मंंत्री अनंत कुमार हेगड़े (anant kumar hegde, ) के बयान को  खारिज कर दिया है. वहीं दूसरी तरफ शिवसेना ने इस मसले पर फडणवीस पर निशाना साधा है. बता दें हेगड़े ने दावा किया था कि केंद्र सरकार का 40 हजार करोड़ बचान के लिए फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ली थी. 

पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा, 'यह बयान गलत है मैं इसे सिरे से नकारता हूं, बुलेट ट्रेन केंद्र के सहायता से तैयार हो रही है इसमें महाराष्ट्र सरकार की भूमिका सिर्फ भूमि अधिग्रहण तक सीमित है.'

फडणवीस ने कहा कि न केंद्र ने महाराष्ट्र से कोई पैसा मांगा न केंद्र को महाराष्ट्र ने कोई पैसा दिया. मेरे मुख्यमंत्री रहते या कार्यवाहक मुख्यमंत्री लेते ऐसा कोई फैसला मैंने नहीं लिया है. सरकार का वित्त विभाग करे इसकी जांच करके इसका सच जनता के सामने लाए. 

'यह महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है' 
वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस मामले पर फडणवीस पर निशाना साधा है. राउत ने ट्वीट कर कहा, 'BJP सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने कहा है कि 80 घंटे के लिए मुख्यमंत्री बनकर देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के 40,000 करोड़ रुपये को केंद्र को दे दिया? यह महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है.'

क्या कहा था हेगड़े ने?
उत्तर कन्नड़ में बोलते हुए अनंत हेगड़े ने कहा, 'आप सब जानते हैं हमारा आदमी महाराष्ट्र में 80 घंटों के लिए मुख्यमंत्री बना उसके बाद फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया. उन्होंने यह ड्रामा क्यों किया? क्या वह नहीं जानते थे कि उनके पास बहुमत नहीं है, फिर भी वह मुख्यमंत्री बने. यह वह सवाल है जो हर कोई पूछ रहा है. 

अनंत कुमार हेगड़े ने आगे कहा, 'मुख्यमंत्री के नियंत्रण में केंद्र के 40 हजार करोड़ रुपये थे. वह जानते थे कि यदि कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना की सरकार सत्ता में आ जाती है तो वे विकास के बजाए रकम का दुरुपयोग करेंगे. इस वजह से यह पूरा ड्रामा करने का फैसला लिया गया. फडणवीस मुख्यमंत्री बने और 15 घंटे में केंद्र को 40 हजार करोड़ रुपये वापस कर दिए गए.'