Breaking News
  • अकाली दल ने NDA से गठबंधन तोड़ा, पार्टी की कोर कमेटी में फैसला
  • पार्टी की नेता हरसिमरत कौर मोदी कैबिनेट से दे चुकी हैं इस्‍तीफा
  • कृषि बिल से नाराज है अकाली दल
  • IPL 2020: SRH vs KKR Live Score Update, केकेआर ने हैदराबाद को 7 विकेट से रौंदा

अमेरिका-आंध्रा आर्थिक साझेदारी के लिए जगन मोहन रेड्डी ने की अपील

वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने यूएसआईबीसी और अटलांटिक काउंसिल के साउथ एशिया सेंटर द्वारा आयोजित एक व्यापार राउंडटेबल डिस्कशन को संबोधित करते हुए अपने विचार रखे.

अमेरिका-आंध्रा आर्थिक साझेदारी के लिए जगन मोहन रेड्डी ने की अपील
आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी (फाइल फोटो)

अमरावती: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल (यूएसआईबीसी) से आग्रह किया है कि वह उनकी सरकार के साथ मिलकर अमेरिका-आंध्र प्रदेश आर्थिक साझेदारी को उत्प्रेरित करने के लिए '5 बड़े विचारों' की पहचान कर, उस पर बातचीत करें. 

उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश और यूएसआईबीसी मिलकर विशेष रूप से कृषि और खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा, बुनियादी ढांचे और उद्योग के क्षेत्रों में निवेश और व्यापार के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए एक रोडमैप तैयार कर सकते हैं. उन्होंने यूएसआईबीसी और अटलांटिक काउंसिल के साउथ एशिया सेंटर द्वारा आयोजित एक व्यापार राउंडटेबल डिस्कशन को संबोधित करते हुए अपने विचार रखे.

आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय के सहयोग से जगन रेड्डी के साथ गोलमेज सम्मेलन में अमेरिका और आंध्र प्रदेश के बीच कनेक्टिविटी को मजबूत करने के अवसरों पर ध्यान केंद्रित किया गया और निवेश और व्यापार के अवसरों की नींव रखी गई.

जगन रेड्डी अपनी बेटी का विश्वविद्यालय में दाखिला कराने के लिए अमेरिका की निजी यात्रा पर गए हैं, लेकिन उनका अमेरिकी अधिकारियों के साथ कुछ बैठक भी होने वाला है.

मुख्यमंत्री ने कहा, 'आंध्र प्रदेश कनेक्टिविटी के लिए मजबूत बुनियादी ढांचे के कारण निवेश, पूंजी और साझेदारी को उत्प्रेरित करने के लिए तैयार है.'

उन्होंने कहा कि सरकार मानव, भौतिक, प्राकृतिक और वित्तीय संसाधनों को मजबूत करने के लिए समर्पित है, हालांकि कई कार्यक्रमों का शुभारंभ चार दृष्टिकोणों पर आधारित है - आर्थिक विकास, भविष्य में निवेश, मानवीय क्षमता और अपने लोगों के लिए सामाजिक सुरक्षा का जाल बनाना.