Kanpur: जानिए हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के एनकाउंटर की पूरी कहानी, कब क्या हुआ?

गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे मौके का फायदा उठाकर भागने की कोशिश करने लगा.

Kanpur: जानिए हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के एनकाउंटर की पूरी कहानी, कब क्या हुआ?
Play

कानपुर: हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे आज सुबह 7:15 बजे से 7:35 के बीच यूपी एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में मारा गया. कानपुर पहुंचते ही विकास दुबे ने अपना इलाका जानकर यूपी एसटीएफ की टीम से पिस्तौल छीनने की कोशिश की जिसके बाद गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई. गाड़ी पलटने के कारण पुलिसकर्मी घायल हो गए.

गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे मौके का फायदा उठाकर भागने की कोशिश करने लगा. जिसके बाद यूपी एसटीएफ ने विकास का पीछा किया तो विकास ने एसटीएफ की टीम पर फायरिंग कर दी. फिर यूपी एसटीएफ ने भी जवाबी फायरिंग की और उसे सरेंडर करने को कहा लेकिन वो नहीं माना.

इसके बाद यूपी एसटीएफ के कमांडो ने सेल्फ डिफेंस में विकास दुबे को मार गिराया. इस मुठभेड़ में चार पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं जिन्हें इलाज के लिए तुरंत अस्पताल में भर्ती करवाया गया.

ये भी पढ़ें- Kanpur Encounter: विकास दूबे की पत्नी रिचा दुबे और बेटे से पूछताछ, खुलेंगे कई राज

गोली लगने के बाद यूपी एसटीएफ विकास दुबे को इलाज के लिए तुरंत पास के हॉस्पिटल में ले गई जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. सुबह 7 बजकर 55 मिनट पर विकास दुबे को मृत घोषित किया गया.

मोहित अग्रवाल आईजी कानपुर ने बताया कि मुठभेड़ में 4 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं जिन्हें कल्याणपुर सीएचसी में भर्ती करवाया गया है. विकास दुबे हथियार छीन कर भागने की कोशिश कर रहा था.