close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पवार का फडणवीस पर हमला, 'ये लोग अपने गुनाहों को छुपाते है, इन्हें कोर्ट ने झटका दिया है'

चुनावी हलफनामे में दो आपराधिक मुकदमों से जुड़ी जानकारी छुपाने के मामले में ट्रायल कोर्ट और हाईकोर्ट के क्लीनचिट देने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने निरस्त किया है.

पवार का फडणवीस पर हमला, 'ये लोग अपने गुनाहों को छुपाते है, इन्हें कोर्ट ने झटका दिया है'
@PawarSpeaks

मुंबईः महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 ( Maharashtra Assembly Elections 2019) के प्रचार में अब आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. एनसीपी प्रमुख शरद पवार(Sharad Pawar) पर मनी लॉन्ड्रिंग को लेकर ईडी का शिकंजा कसने पर जहां शिवसेना ने एनसीपी पर हमलावर रुख अपनाया था. वहीं अब शरद पवार ने महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ चुनावी हलफनामे में गलत जानकारी देने के मामले को लेकर निशाना साधा है. शरद पवार ने मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस पर हमला करते हुए कहा, 'ये लोग अपने गुनाहों को छुपाते है. इन्हें कोर्ट ने झटका दिया है.'

महाराष्ट्र के सांगली में एनसीपी चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पवार ने कहा, 'चुनावी हलफनामे में केस छुपाने के आरोप में फडणवीस के खिलाफ मामला चलाने का सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है. ये लोग अपने गुनाहों को छुपाते है. इन्हें कोर्ट ने झटका दिया है '

बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 ( Maharashtra Assembly Elections 2019) के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को सुप्रीम कोर्ट से झटका लगा है. 2014 के चुनावी हलफनामे में आपराधिक मुकदमों से जुड़ी जानकारी छुपाने के लिए फडणवीस को अब मुकदमे का सामना करना पड़ेगा. सुप्रीम कोर्ट ने फडणवीस को बॉम्बे हाई कोर्ट से मिली क्लीन चिट को खारिज किया. दरअसल चुनावी हलफनामे में दो आपराधिक मुकदमों से जुड़ी जानकारी छुपाने के मामले में ट्रायल कोर्ट और हाईकोर्ट के क्लीनचिट देने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने निरस्त किया है.

यह भी देखेंः CM फडणवीस को SC से झटका, चुनावी हलफनामे में जानकारी छुपाने पर चलेगा मुकदमा

सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट को निर्देश दिया है कि वह फड़नवीस के खिलाफ शिकायत पर नए सिरे से विचार करें.

याचिकाकर्ता का आरोप है कि फडणवीस ने 2014 विधानसभा में अपने ऊपर लंबित 2 आपराधिक मुकदमों की जानकारी छुपाई. इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट याचिका खारिज कर चुका है. दरअसल, सुप्रीम कोर्ट सतीश उके द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई कर रहा था, जिसमें कहा गया कि फणडवीस ने अपने खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों का कथित खुलासा नहीं किया है.