close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत 26/11 का आतंकवादी हमला कभी नहीं भूल सकता: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री ने अरब सागर में तैनात विमान वाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य पर जवानों के साथ योगाभ्यास किया.

भारत 26/11 का आतंकवादी हमला कभी नहीं भूल सकता: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
(फोटो: ANI)

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) का कहना है कि हम यह अच्छी तरह से जानते हैं कि पाकिस्तान भारत को अस्थिर करने के लिए आतंकवाद को एक टूल के रूप में इस्तेमाल करता है. हम 26/11 को कभी नहीं भूल सकते हैं और अगर कोई चूक हुई थी तो उसे दोहराया नहीं जा सकता. हमारे नेवी और कोस्ट गार्ड हमेशा अलर्ट पर रहते हैं.

रक्षामंत्री आज भारत के कीव-स्तर के विमान वाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य पर अरब सागर में पूरा दिन बिताएंगे. रक्षामंत्री विक्रमादित्य पर शनिवार दोपहर बाद गए और वह रविवार को दोपहर पूर्व तक रहेंगे. इस दौरान वह मिसाइलों को दागने की क्षमता को देखने के अलावा नौसेना की सभी कार्रवाइयों का हिस्सा बनेंगे. रविवार को राजनाथ सिंह ने INS विक्रमादित्य पर सुरक्षा कर्मियों के साथ योगाभ्यास भी किया.

 

 

नौसेना में शामिल हुई पनडुब्बी आईएनएस खंडेरी, समंदर में भारत की पैठ हुई मजबूत
रक्षा मंत्री ने शनिवार को मुंबई के माजागोन डॉक्स में एक समारोह में भारत की दूसरी स्कॉर्पियन क्लास युद्धक पनडुब्बी आईएनएस खंडेरी को भारतीय नौसेना में शामिल कर लिया. पनडुब्बी के फ्लैगपोस्ट पर भारत का राष्ट्रीय झंडा फहराकर उसे नौसेना के बेड़े में शामिल किया गया. इस दौरान नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और नौसेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.

रक्षा मंत्री ने इस दौरान भारत का पहला पी-17 शिवालिक-क्लास युद्धक पोत नीलगिरी और विमान कैरियर ड्राईडॉक को भी भारतीय नौसेना में शामिल किया. नौसेना ने कहा कि इन तीनों के शामिल होने से समुद्र में देश की युद्धक क्षमता काफी बढ़ गई है.

आईएनएस खंडेरी पी-75 परियोजना के अंतर्गत नौसेना में शामिल होने वाली दूसरी युद्धक पनडुब्बी है. इससे पहले 2017 में एक और पनडुब्बी आईएनएस कावेरी नौसेना में शामिल हो चुकी है.