उत्तर प्रदेश: जहरीली शराब पीकर मरने वालों की संख्या हुई 44

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि सहारनपुर में जहरीली शराब पीने से 36 लोगों ने जान गंवाई है और जिले में सबसे अधिक 12 लोगों की मौत नागर थानाक्षेत्र के कुमाही गांव में हुई .

उत्तर प्रदेश: जहरीली शराब पीकर मरने वालों की संख्या हुई 44
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कुशीनगर और सहारनपुर जिलों में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढकर शनिवार को 44 हो गई.  राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि सहारनपुर में जहरीली शराब पीने से 36 लोगों ने जान गंवायी है और जिले में सबसे अधिक 12 लोगों की मौत नागर थानाक्षेत्र के कुमाही गांव में हुई .

उन्होंने बताया कि कुशीनगर में आठ लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई . सबसे अधिक पांच लोगों ने तरयासुजान थानाक्षेत्र के वेदूपार गांव में जान गंवाई . 

प्रवक्ता ने बताया कि कुशीनगर में पुलिस प्रशासन एवं आबकारी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की पूछताछ में पता लगा कि कुछ लोग कथित रूप से बिहार से कच्ची शराब लेकर आये थे, जिसके सेवन से यह घटना हुई .  उन्होंने बताया कि आरोपी राजेन्द्र जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है और अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है .

प्रवक्ता ने बताया कि कुशीनगर के जिला आबकारी अधिकारी योगेन्द्र नाथ रामू सिंह यादव सहित आबकारी विभाग के छह कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है .उन्होंने बताया कि उत्तराखंड के हरिद्वार में ज्ञान सिंह के घर तेरहवीं संस्कार आयोजित हुआ था, जिसमें सहारनपुर के कुछ गांवों से लोग गये थे . भोज में लोगों ने शराब पी थी . जहरीली शराब के सेवन से रात में ही लोगों का स्वास्थ्य बिगड़ने लगा था लेकिन रात में मौसम खराब होने की वजह से प्राथमिक उपचार नहीं हो सका जिससे यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई .

उन्होंने बताया कि सहारनपुर में भी जिला आबकारी अधिकारी अजय सिंह सहित चार कर्मियों को निलंबित किया गया है . प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश भर के वरिष्ठ पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को आठ फरवरी से 22 फरवरी तक विशेष प्रवर्तन अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं .