close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उत्तराखंड में 5 सीटों पर 58% मतदान, हरिद्वार में सबसे अधिक तो टिहरी में सबसे कम हुआ मतदान

प्रदेश की राज्यपाल बेबीरानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सबसे पहले अपना मत डालने वालों में शामिल थे. राज्यपाल ने देहरादून के गढी कैंट स्थित शहीद मेख बहादुर गुरूंग कन्या इंटर कालेज में अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. 

उत्तराखंड में 5 सीटों पर 58% मतदान, हरिद्वार में सबसे अधिक तो टिहरी में सबसे कम हुआ मतदान
फोटो साभारः IANS

उत्तराखंड: उत्तराखंड में लोकसभा की सभी पांच सीटों पर गुरूवार को मतदान संपन्न हो गया और लगभग 58 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. प्रदेश के निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार राज्य की सभी लोकसभा सीटों - टिहरी, पौडी, हरिद्वार, नैनीताल और अल्मोडा- पर लगभग 58 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया और 52 प्रत्याशियों का चुनावी भविष्य ईवीएम में कैद कर दिया. चुनाव परिणाम 23 मई को आयेंगे. वर्ष 2014 के आम चुनावों के मुकाबले इस बार मतदान में चार फीसदी से अधिक की गिरावट दर्ज की गई. 

इस बार सर्वाधिक मतदान हरिद्वार और नैनीताल सीटों पर दर्ज किया गया, जहां क्रमश: 66.24 और 66.39 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाले. सबसे कम मतदान 48.78 प्रतिशत अल्मोडा सीट पर हुआ. पौडी में 49.89 फीसदी और टिहरी में 54.38 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाले. हालांकि, मतदान केंद्रों के बाहर अभी भी कतारों में मतदाता लगे हुए हैं और मतदान के अंतिम आंकडे बाद में जारी किये जायेंगे.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, प्रदेश में मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ और छिटपुट घटनाओं को छोडकर किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है. प्रदेश की राज्यपाल बेबीरानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सबसे पहले अपना मत डालने वालों में शामिल थे. राज्यपाल ने देहरादून के गढी कैंट स्थित शहीद मेख बहादुर गुरूंग कन्या इंटर कालेज में अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया.

मुख्यमंत्री रावत ने यहां डिफेंस कालोनी में अपने परिवार के साथ मतदान किया. उत्तराखंड में 3711220 महिला मतदाताओं समेत कुल 7856268 वोटर थे. राज्य से लोकसभा की पांचों सीटों पर फिलहाल भाजपा काबिज है लेकिन पहले की तरह इस बार भी सभी जगह कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला है.

इन पांचों सीटों पर जिन दिग्गजों की चुनावी किस्मत का फैसला आज ईवीएम में कैद हुआ, उनमें केंद्रीय मंत्री अजय टम्टा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अजय भटट, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस महासचिव हरीश रावत, राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा शामिल हैं.