मेरठ: विवादित वीडियो पर SP सिटी की सफाई, 'हमें देखने के बाद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए'

कांग्रेस नेता प्रिंयका गांधी वाड्रा ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो को शेयर किया. 

मेरठ: विवादित वीडियो पर SP सिटी की सफाई, 'हमें देखने के बाद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए'

लखनऊ: नागरिकता कानून के विरोध में मेरठ में 20 दिसंबर को हुई हिंसा के दौरान एसपी सिटी के विवादित वीडियो पर यूपी के एडीजी प्रशांत कुमार ने सफाई दी है. दरअसल सोशल मीडिया पर मेरठ के एसपी अखिलेश नारायण का एक वीडियो सामने आया था. जिसमें एसपी सिटी बलवाइयों को पाकिस्तान चले जाने की बात कहते दिख रहे थे. कांग्रेस नेता प्रिंयका गांधी वाड्रा ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो को शेयर किया है.

अपने वायरल वीडियो पर मेरठ के एसपी अखिलेश नारायण सिंह ने सफाई देते हुए कहा, 'हमें देखकर कुछ लड़कों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए और भागने लगे. मैंने उनसे कहा आप पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं और भारत से इतनी नफरत करते हैं कि पत्थर फेंक रहे हैं तो पाकिस्तान चले जाते. उनकी पहचान की जा रही है'

उधर इस पूरे मामले पर मेरठ रेंज के एडीजी प्रशांत कुमार ने भी सफाई दी है. प्रशांत कुमार ने कहा, 'मैं ये साफ करना चाहूंगा कि वहां सिर्फ एसपी सिटी ही नहीं शहर के एडीएम सिटी भी मौजूद हैं. वीडियो से स्पष्ट है वहां पथराव हो रहा था. पत्थर दिख रहे हैं वहां भारत विरोधी नारे लग रहे थे....

 

....पड़ोसी देश जिन्दाबाद के नारे लग रहे थे. पीएफआई और एसडीएपीआई के पर्चे बांटे जा रहे थे. उस दिन मेरठ की स्थिति बहुत भयावाह थी. लाखों लोग रोड पर थे तमाम अपील करने के बाद धर्म गुरुओं के कहने के बावजूद ऐसी स्थिति में अधिकारियों ने वहां सिर्फ यही बोला है कि आपको अगर जाना है तो जाएं लेकिन पत्थरबाजी न करें और मैंने पहचान लिया है लोगों को, आपने ये भी देखा होगा कि वहां बुजुर्ग लोग जो खड़े थे उनके साथ किसी तरह की कोई बदतमीजी नहीं की गई.'