बरेली में कमिश्नर से मिलने पहुंचा फर्जी IAS, बातचीत में शक हुआ तो पकड़ी गई चोरी

बरेली कोतवाली पुलिस ने फर्जी आईएएस अफसर को गिरफ्तार किया है. फर्जी आईएएस शशांक MHRD का कोऑर्डिनेटर बताकर कमिश्नरी पहुचा था.

बरेली में कमिश्नर से मिलने पहुंचा फर्जी IAS, बातचीत में शक हुआ तो पकड़ी गई चोरी
पुलिस गिरफ्त में फर्जी आईएएस शशांक

बरेली: बरेली कोतवाली पुलिस ने फर्जी आईएएस अफसर को गिरफ्तार किया है. फर्जी आईएएस शशांक MHRD का कोऑर्डिनेटर बताकर कमिश्नरी पहुचा था. कमिश्नरी के स्टाफ को उसकी बातों पर शक हुआ जिसके बाद उन्होंने कोतवाली पुलिस को बुलाकर उसे गिरफ्तार करवा दिया.

जानकारी मुताबिक कोतवाली पुलिस की गिरफ्त में आया फर्जी आईएएस शशांक तिवारी आईएएस और आईपीएस को फोन करके रौब झाड़ता था. यह आज भी रौब झाड़ने के लिए कमिश्नरी पहुंचा था, लेकिन वहां पर इसकी दाल नहीं गली. कमिश्नरी के स्टाफ ने उसे पहचान लिया की ये कोई आईएएस अफसर नहीं बल्कि बहुरुपिया है. पहले भी इसने एसएसपी और डीआईजी को IAS बनकर कर कॉल किया था. कॉल डिटेल के आधार पर इस पर कार्रवाई की गई है.

महंगे तेल को लेकर ओपी राजभर करेंगे विधानसभा कूच, विधायकों के साथ देंगे धरना

एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया की फर्जी आईएएस शशांक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई जांच की जा रही है कि इसने अभी तक कितने फ्रॉड किए हैं. आरोपी शशांक पहले भी एसएसपी और डीआईजी को IAS बनकर कई बार कॉल कर चुका है. आरोपी शशांक इज़्ज़तनगर थाना क्षेत्र का रहने वाला है. उसका सपना आईएएस बनने का था, लेकिन वो आईएएस का एग्जाम पास नहीं कर सका. जिसके बाद वो अपने सपने को साकार करने के लिए फ़र्ज़ी आईएएस बन गया.