ट्रैवल हिस्ट्री छुपाने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई, आशा फैसिलिटेटर को मिलेंगे 2-2 हजार

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वास्थ्य विभाग और जिलाधिकारियों से चर्चा कर कई सख्त निर्देश जारी किए हैं. इस दौरान सीएम ने अधिकारियों को कोविड से बचाव के लिए सभी प्रकार के नियमों का पालन करवाने को कहा.

ट्रैवल हिस्ट्री छुपाने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई, आशा फैसिलिटेटर को मिलेंगे 2-2 हजार
फाइल फोटो

देहरादून: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शनिवार को सचिवालय में कोविड-19 संक्रमण की समीक्षा बैठक की. उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वास्थ्य विभाग और जिलाधिकारियों के साथ चर्चा कर कई सख्त निर्देश जारी किए. इस दौरान सीएम ने अधिकारियों को कोविड से बचाव के लिए सभी प्रकार के नियमों का पालन करवाने को कहा. साथ ही अधिकारियों को निर्देश दिए कि ट्रैवल हिस्ट्री छुपाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो.

मुख्यमंत्री ने आशा व आंगनवाड़ी वर्कर्स की तरह आशा फैसिलिटेटर को भी 2-2 हजार रुपये सम्मान निधि के रूप में देने की घोषणा भी की. इस बैठक में कोरोना वॉरियर्स की मृत्यु पर भी मुख्यमंत्री राहत कोष से 10 लाख रुपये देने की घोषणा की गई.

बता दें कि सभी जिलाधिकारियों को जल्द से जल्द ये सम्मान राशि लाभार्थियों के खाते में डालने के लिए कहा गया है. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड में होम-आइसोलेशन हेतु निर्देश पुस्तिका का भी विमोचन किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि होम-आइसोलेशन के बजाय अस्पताल और कोविड केयर सेंटर को प्राथमिकता दी जाए. डॉक्टर्स की टीम की जांच एवं मानकों के हिसाब से ही होम-आइसोलेशन की व्यवस्था की जानी चाहिए.

नियमों का उल्लंघन करने वालों को भरना पड़ेगा जुर्माना
मुख्यमंत्री रावत ने अधिकारियों को फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने और मास्क के उपयोग पर विशेष ध्यान देने को कहा. सीएम के निर्देशानुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी. साथ ही जो लोग मास्क के बिना घूमते नजर आएंगे उन पर जुर्माना लगाकर तत्काल ही उन्हें  4-4 वॉशेबल मास्क दिए जाएंगे.

ये भी पढ़ें-DIAL-100 वाहन में ही चोरों ने लगाई सेंध, उड़ाई 80 हजार की MDT, 20 दिन बाद पुलिस ने दर्ज कराई शिकायत

निर्देशों के मुताबिक सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न लगाने और नियमों का उल्लंघन करने पर पहली बार में 200 रुपये, दूसरी बार उल्लंघन करने पर 500 रुपये का जुर्माना भरना पड़ेगा. हाई रिस्क एरिया या अन्य राज्यों से आने वाला कोई व्यक्ति अगर ट्रैवल हिस्ट्री की गलत जानकारी देता है तो उसके खिलाफ सख्त कारवाई की जाएगी.

बढ़ाई जाएगी सैंपल टेस्टिंग क्षमता
मुख्यमंत्री ने कोरोना की सैंपल टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने और सर्विलांस सिस्टम को मजबूत करने के आदेश दिए हैं. साथ ही बुजुर्ग, बच्चे और को-मॉर्बिड (जो लोग कैंसर, डायबिटीज आदि बीमारी से ग्रस्त हैं) ऐसे लोगों को घर में ही रहने की सलाह दी है. मुख्यमंत्री ने कोविड रिकवरी रेट में सुधार और मृत्युदर को कम करने के लिए हर संभव प्रयास करने के निर्देश दिए हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि सीनियर डॉक्टर अस्पताल में भर्ती कोविड मरीजों की पर्सनल केयर करें. जिलाधिकारी, सीडीओ एवं सीएमओ भी इसकी मॉनिटरिंग करें. सीएम ने कहा कि हर जनपद में ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम की पर्याप्त व्यवस्था की जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें सतर्कता के साथ और क्षमता बढ़ाने की आवश्यकता है.

Watch LIVE TV-