Guru Purnima 2021: चित्रकूट में गुरु पूर्णिमा पर मंदाकिनी स्नान को उमड़े श्रद्धालु, जानें महत्व

आज सुबह से ही श्रद्धालु मंदाकिनी नदी (Mandakini River) में स्नान कर कामदगिरि की पूजा अर्चना करने के बाद अपने गुरु के दर्शन मठ मंदिरों में जाकर कर रहे हैं.

Guru Purnima 2021: चित्रकूट में गुरु पूर्णिमा पर मंदाकिनी स्नान को उमड़े श्रद्धालु, जानें महत्व

ओनकार सिंह/ चित्रकूट: कोरोना महामारी के दौर में भी धर्म नगरी चित्रकूट में गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima 2021) के अवसर पर हजारों श्रद्धालुओं ने चित्रकूट पहुंचकर मंदाकिनी नदी (Mandakini River) में स्नान कर अपने गुरुओं की पूजा कर रहे हैं. हालांकि कोरोना महामारी का भी असर देखने को मिल रहा है. जहां अन्य वर्षों में लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते थें. वहीं इस बार संख्या हजारों में ही सीमित है.

गुरुओं का कर रहे स्मरण 
गुरु पूर्णिमा के अवसर पर दूर-दराज से हजारों लोग आज के दिन चित्रकूट पहुंचकर अपने गुरुओं की दर्शन पूजन करते हैं और भगवान कामदगिरि की पूजा अर्चना कर परिक्रमा लगाते हैं. आज सुबह से ही श्रद्धालु मंदाकिनी नदी में स्नान कर कामदगिरि की पूजा अर्चना करने के बाद अपने गुरु के दर्शन मठ मंदिरों में जाकर कर रहे हैं. धर्म गुरुओं ने कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के लिए शिष्यों से अपील की है.

गुरु पूर्णिमा के पर्व पर श्रद्धालुओं ने मां गंगा में लगाई आस्था की डुबकी, कई शहरों में दिखा भव्य नजारा

 

भगवान श्री राम चित्रकूट में बिताए थे 11 वर्ष 
गुरुपूर्णिमा के अवसर पर मठ मंदिरों में साज सज्जा भी की गई है. चित्रकूट के संतों का कहना है कि गुरु पूर्णिमा के अवसर पर चित्रकूट का कुछ विशेष महत्व है. क्योंकि प्रयागराज सिर्फ प्रयागराज है और चित्रकूट राघव प्रयागराज है. यहां भगवान श्री राम ने अपने वनवास के साढ़े 11 वर्ष बिताए हैं. इसलिए प्रयागराज से ज्यादा महत्व चित्रकूट का है. दूर दराज से लोग आकर यहां अपने गुरुओं के दर्शन करते हैं. 

पहले बैंक में रेकी कर जान लेते थे पीड़ित का नंबर, फिर बैंक मैनेजर बन लूट लेत थे पैसे, जानें पूरा मामला 

घरों से ही करें गुरु का स्मरण
चित्रकूट रामघाट स्थित भरत मंदिर के महंत दिव्यजीवन दास महाराज ने बताया कि गुरु रे ब्रम्हा गुरु से विष्णु गुरु रे देव महेश्वराय श्री गुरुये नमः आज गुरुपूर्णिमा है और आज गुरु का दिन है. गुरुओं की पूजा होती है और गुरु को दक्षिणा व अंग वस्त्र देकर भक्त लोग धन्य होते हैं. उन्होंने कहा कि मठ मंदिरों में कोरोना गाइड लाइन का पालन हो रहा है और मैं जनता व भक्तों से अनुरोध करता हूं कि आप अपने घरों से ही गुरु की फोटो व स्मरण कर ही पूजा करें और इस महामारी से बचें. 

VIRAL VIDEO: भरे स्टेज पर दूल्हे ने साली के साथ किया ऐसी हरकत, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल

WATCH LIVE TV